breaking news New

‘स्वाधीनता की अनकही कहानियां जन-जन तक पहुंचाने को आगे आए 13 हजार युवा लेखक

‘स्वाधीनता की अनकही कहानियां जन-जन तक पहुंचाने को आगे आए 13 हजार युवा लेखक

’नयी दिल्ली।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि स्वाधीनता की अनकही कहानियां जन-जन तक उनकी भाषाओं में पहुंचाने के लिए शुरू किए गए एक अभियान में अब तक देश विदेश के 13 हजार से अधिक नवोदित लेखक अपना नाम दे चुके हैं।

श्री मोदी ने रेडियो प्रसारण मन की बात के 81वें संस्करण में यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि स्वाधीनता के अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य इसी कालखंड में देश में आज़ादी के इतिहास की अनकही गाथाओं को जन-जन तक पहुँचाने का एक अभियान भी चल रहा है और इसके लिए नवोदित लेखकों, देश के और दुनिया के युवाओं को आह्वान किया गया है।

प्रधानमंत्री ने बताया कि इस अभियान के लिए अब तक 13 हज़ार से ज्यादा लोगों ने अपना पंजीकरण कराया है। ये 14 अलग-अलग भाषाओं के हैं। उन्होंने बताया कि 20 से ज्यादा देशों में कई अप्रवासी भारतीयों ने भी इस अभियान से जुड़ने के लिए अपनी इच्छा जाहिर की है।

उन्होंने कहा कि एक बहुत दिलचस्प जानकारी है कि करीब 5000 से ज्यादा नए नवोदित लेखक आज़ादी के जंग में शामिल ऐसे गुमनाम नायकों की कथाओं को खोज रहे हैं जिनके नाम इतिहास के पन्नों में नज़र नहीं आते हैं। उन्होंने अपने श्रोताओं और शिक्षा जगत से जुड़े लोगों से ऐसे युवाओं का सहयोग करने का आग्रह किया।