breaking news New

38 निजी स्कूलों की मान्यता रद्द करने के सम्बंध में ज्ञापन

38 निजी स्कूलों की मान्यता रद्द करने के सम्बंध में ज्ञापन


जब इन स्कूलों को मान्यता ही नही तो अभिभावकों से शुल्क वसूली पर शिक्षा विभाग मुखबधिर क्यों-तरुणा साबे बेदरकर

जगदलपुर। आम आदमी पार्टी द्वारा आज शिक्षा अधिकारी से मिल कर चर्चा की गई और बस्तर जिले के 38 निजी स्कूलों की मान्यता रद्द करने के सम्बंध में ज्ञापन दिया गया।जिसकी जानकारी आप आदमी पार्टी जिला अध्यक्ष तरुणा साबे बेदरकर ने प्रेस नोट जारी कर के दी।

गैरतलब है कुछ दिन पहले अखबार के माध्यम से जानकारी मिली कि बस्तर जिले के 38 निजी स्कूलों की मान्यता शिक्षा विभाग द्वारा रद्द कर दी गई है ।इन निजी विद्यालयों में वो भी बस्तर के बड़े और नामी विद्यालय भी शामिल हैं जो लगातार पैंतीस चालीस सालो से बस्तर जिले के अंर्तगत संचालित हो रहे हैं ।तरुणा साबे बेदरकर ने कहा कि बस्तर ज़िले में संचालित निजी विद्यालयों का शिक्षा के क्षेत्र में बड़ा योगदान है, इसे झुठलाया नही जा सकता।लेकिन सरकारी तंत्र की लापरवाही के चलते अब निजी विद्यालयों के संचालकों द्वारा शिक्षा गुणवत्ता पर ध्यान केंद्रित ना करके अधिक धन कैसे कमाया जाए इसपर ज़्यादा ध्यान है।किसी विद्यालय की स्थापना से लेकर प्रतिवर्ष उसके संचालन हेतु शासन प्रशासन द्वारा विभिन्न मापदंड तय किये गए हैं, जिन्हें विद्यालय प्रबंधनों को मानना अनिवार्य है।

परंतु बस्तर में कई दशकों से शिक्षा विभाग के अधिकारियों की मेहरबानी के चलते निजी विद्यालयों के प्रबंधकों द्वारा मापदंड पूरा नही होने पर भी मान्यता बांट दी जा रही जा रही है, जोकि सरासर ग़लत है।जिसका की आम आदमी पार्टी विरोध लगातार करती आई है।38 निजी स्कूल अबतक मान्यता प्राप्त स्कूल के नाम से दसको से संचालित किस प्रकार से हो रहे थे जब ये मापदंडों के आधार पर रद्द कर दिए गए ये प्रश्न शिक्षा विभाग के नियत और कार्यप्रणाली पर बहुत बड़ा प्रश्न है जिसके जवाब हेतु शिक्षा अधिकारी को ज्ञापन के माध्यम से मांग की गई है कि उक्त बिंदुओं सहित 38 निजी विद्यालयों की मान्यता किस आधार पर रद्द की गई,

इसकी संपूर्ण जानकारी आम आदमी पार्टी सहित सभी अभिभावकों को एक सप्ताह के भीतर लिखित रूप से उपलब्ध कराई जाए।जिस आधार पर विद्यालयों की मान्यता रद्द की गई है अब उन मापदंडो को पूर्ण किए बिना ही इन निजी विद्यालयों जो अब अगर पुनः मान्यता दे दी जाती है, तब आम आदमी पार्टी अभिभावकों को साथ लेकर शिक्षा विभाग व राज्य शासन के विरुद्ध आंदोलन हेतु बाध्य होगी। अतः नियमों के पालन में पूर्णतः ईमानदारी व कड़ाई बरते, आम आदमी पार्टी आपके कार्यवाही के साथ खड़ी मिलेगी।

ज्ञापन सौंपने के दौरान जिला अध्यक्ष तरुणा साबे बेदरकर के साथ जगदलपुर अध्यक्ष शुभम सिंह,जिला सोशल मीडिया अध्यक्ष गितेश सिंगाड़े,युवा सँगठन मंत्री ईश्वर कश्यप,सोशल मीडिया अध्यक्ष विधानसभा धीरज जैन आदि कार्यकर्ता सामिल रहे।