breaking news New

कांग्रेस के घोषणा पत्र के दो तिहाई वादों को भूपेश सरकार ने ढाई साल में पूरा किया

कांग्रेस के घोषणा पत्र के दो तिहाई वादों को भूपेश सरकार ने ढाई साल में पूरा किया


सक्ती /  जांजगीर, 9 जुलाई। जिला कांग्रेस कमेटी जांजगीर चांपा के प्रवक्ता शिशिर द्विवेदी ने कहा कि विधानसभा चुनाव 2018 में कांग्रेस ने प्रदेश की जनता से जो वादा किया है, उसे भूपेश सरकार ने ढाई साल में दो तिहाई वादा पूरा कर दिया गया है, बाकी वायदों को पूरा करने के लिए सरकार ने कार्यवाही शुरू भी कर दी है। नेता प्रतिपक्ष सहित भाजपा के नेता ठीक से पढ़ कर याद कर लें कि कांग्रेस सरकार ने किन छब्बीस वायदों को पूरा किया है, पूर्ण वायदों में पहले नंबर पर किसानों का कर्जा माफ किया, 2. 2500 रू. में धान की खरीदी की गयी, 3. किसानों का सिंचाई कर माफ किया गया, 4. 5 डिसमिल से कम जमीनों की बंद रजिस्ट्री शुरू की गयी, 5. लोहंडीगुड़ा में किसानों की जमीने वापस की गई, 6. राजीव गांधी किसान न्याय योजना में धान, मक्का, गन्ना, कोदो, दहलन उत्पादक किसानों को प्रतिवर्ष सहायता दी जा रही है, 7. भूमिहीन कृषि मजदूरों की आय सुनिश्चित करने न्याय योजना शुरू, 8. तेंदूपत्ता संग्राहकों का मानदेय बढ़ाया गया, 9. युवाओं को सरकारी नौकरी के द्वारा खोले गये शिक्षकों प्राध्यापकों सहित विभिन्न विभागों में सीधी भर्ती शुरू की गई, 10. आउट सोर्सिंग बंद किया गया, 11. गोधन न्याय योजना से गोवंश संरक्षण और महिला समूहों को रोजगार दिया गया, 12. नरवा, गरवा, घुरवा, बारी से ग्रामीण अर्थव्यवस्था और सिंचाई के साधन सुदृढ़ करने का काम किया गया, 13. बस्तर में बायोटेक किसान हब की स्थापना की गई, 14. डेयरी विकास के मद में 530 डेयरी स्थापित किए गए, 15. कृषक जीवन ज्योति में 5 हार्स पावर तक निःशुल्क बिजली दी गई, 16. 7 से बढ़ाकर 31 लघु वनोपज का समर्थन मूल्य में खरीदी की जा रही है, 17. जनजाति विकास के लिये पृथक सचिवालय स्थापित किया गया, 18. मध्य क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण की स्थापना की गई, 19. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सेवा योजना के तहत 20 लाख तक इलाज की सुविधा दी जा रही है, 20. गांव, मोहल्लों, शहरी स्लम में घर-घर तक स्वास्थ्य सुविधा पहुंचाने का वायदा पूरा किया गया, 21. आंगनबाड़ी, मध्यान्ह भोजन रसोईयों के वेतन में वृद्धि का वायदा पूरा किया, 22. औद्योगिक विकास के वायदे को पूरा करने भूमि की दरों में 30 प्रतिशत की कमी सिंगल विंडों की स्थापना की गयी है, 23. 400 यूनिट तक बिजली बिल आधा किया गया है, 24. शिक्षाकर्मियों का 2 वर्ष पूर्ण होने पर संविलियन किया गया, 25. कृषि उत्पादों के प्रसंस्करण के लिये हर ब्लाकों में फूड पार्क के लिये जमीन आवंटित, कोण्डागांव, सिंगारभाट में कार्य प्रगति पर। 26. गुणवत्ता युक्त शिक्षा देने के वादे को पूरा करते हुए  स्वामी आत्मानंद शासकीय अंग्रेजी माध्यम स्कूल खोले गए हैं।

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि भूपेश सरकार "जो कहा, सो किया" मंत्र को लेकर आगे बढ़ रही है, जो लोग 15 साल तक तीन बार सरकार चलाने के बाद जनता से किये वायदों को पूरा नहीं किये, कौन सी नैतिकता से कांग्रेस सरकार से ढाई साल में जन घोषणा पत्र के वायदों का हिसाब मांग रहे है। 

जिला कांग्रेस के प्रवक्ता शिशिर द्विवेदी ने कहा कि कांग्रेस ने अपने जन घोषणा पत्र के 36 प्रमुख वायदों में से 26 से अधिक वायदों को पूरा कर चुकी है। ढाई साल के कार्यकाल में सरकार ने आधा समय कोरोना महामारी से निपटने में लगाया उसके बावजूद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और कांग्रेस सरकार की अपने वायदों को पूरा करने की प्रतिबद्धता ही है कि पांच साल के लिये किये गये 36 वायदों में 26 वायदों को सरकार ने पूरा कर दिखाया और अन्य महत्वपूर्ण वायदों को पूरा करने के लिये कार्यवाहियां शुरू की जा चुकी है।

जिला कांग्रेस के प्रवक्ता शिशिर द्विवेदी ने कहा कि यह तो वे प्रमुख वायदे है जिनका उल्लेख जन घोषणा पत्र में था, इसके अलावा कांग्रेस सरकार ने प्रदेश में नये मेडिकल कालेज, कृषि उद्यानिकी कालेज, स्वास्थ्य सुविधाओं की बढ़ोत्तरी, रोजगार मूलक कार्यक्रमों को चलाकर राज्य की जनता के आर्थिक सशक्तीकरण के मार्ग खोले गए। जन घोषणा के प्रमुख वायदों शराबबंदी के लिये कमेटी बना कर कार्यवाही शुरू कर दी गई है, युवाओं को मानदेय भत्ता के लिये भी कमेटी बनाई गयी है, जो अध्ययन कर रही कि किस प्रकार युवाओं को सामाजिक व रचनात्मक कार्य से जोड़ा जाये।

जिला कांग्रेस के प्रवक्ता शिशिर द्विवेदी ने कहा कि भाजपा नेता एक बार अपने गिरेबान में झांकलें और बतायें कि 2003 में हर आदिवासी परिवार को 10 लीटर दूध वाली जर्सी गाय देने का वायदा, हर आदिवासी परिवार से एक को सरकारी नौकरी देने का वायदा, हर बेरोजगार को 500 भत्ता देने का वायदा, किसानों को पूरे पांच साल 300 बोनस का वायदा, 2100 में धान खरीदी का वायदा रमन सरकार ने 15 सालों में क्यों पूरा नहीं किया?