breaking news New

56 देशों के 19 हजार नागरिक बने हिंदुस्तानी, नागरिकता लेने वालों में पाकिस्तानी सबसे आगे

 56 देशों के 19 हजार नागरिक बने हिंदुस्तानी,  नागरिकता लेने वालों में पाकिस्तानी सबसे आगे

हिंदुस्तान की सरजमीं चूमने के लिए पाकिस्तानियों का धड़कता है दिल
नई दिल्ली। हिंदुस्तान और पाकिस्तान में भले ही लाख तीर-कमान खिंचते रहें, लेकिन पाकिस्तान के कितने ही लोगों के दिलों में आज भी हिंदुस्तान की सरजमीं चूमने के लिए दिल धड़कता है। शायद यही कारण है कि दुनियाभर के देशों में से भारत की नागरिकता लेने वालों में सबसे अधिक पाकिस्तानी रहे। 6 साल में 56 देशों से भारत की नागरिकता लेने वालों में पाकिस्तानियों की भरमार रही।
दरअसल केंद्रीय गृह मंत्रालय में आरटीआई एक्टिविस्ट जीशान हैदर ने एक आरटीआई लगाई गई थी, जिसमें 2015 से फरवरी 2020 तक दुनियाभर के विभिन्न देशों के कितने नागरिकों ने भारत की नागरिकता ली, यह जानकारी मांगी गई थी। जवाब में गृह मंत्रालय के विदेश विभाग ने बताया कि छह साल में 56 देशों के 19,034 नागरिकों ने भारत की नागरिकता ली। इनमें सबसे अधिक पाकिस्तान के 2838 नागरिक रहे। इस दौरान बांग्लादेश के भी 15013 नागरिक हिंदुस्तानी बने। लेकिन इनमें 14864 नागरिक वे थे, जिन्हें इंडो-बांग्लादेश लैंड बॉर्डिंग अग्रीमेंट के तहत 2015 में भारत की नागरिकता दी गई थी। इनसे अलग 6 सालों में 149 बांग्लादेशियों को ही भारत की नागरिकता मिली। भारत के नागरिक बनने वालों में सर्वाधिक 2838 पाकिस्तानी, 666 अफगानिस्तानी, 149 बांग्लादेशी, 107 अमेरिकी, 40 ब्रिटिश, 23 कीनियाई तथा तीन चीनी नागरिक शामिल है। इनके अलावा भारतीय नागरिता  लेने वालो में सिंगापुर, साउथ अफ्रीका और श्रीलंका जैसे देशों के लोग भी शामिल हैं।