breaking news New

वाह! श्रीराम जी की क्या शान है, सरयू तट पर जलाए गए 5.51 लाख से अधिक दीये, पांच शताब्दियों के संघर्ष का परिणाम है श्रीरामन्मभूमि पर मंदिर निर्माण

वाह! श्रीराम जी की क्या शान है, सरयू तट पर जलाए गए 5.51 लाख से अधिक दीये, पांच शताब्दियों के संघर्ष का परिणाम है श्रीरामन्मभूमि पर मंदिर निर्माण

अयोध्या।  उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पांच शताब्दियों के संघर्ष के बाद अयोध्या में श्रीरामजन्मभूमि पर भव्य मंदिर निर्माण का सपना पूरा हुआ है।

राम की नगरी अयोध्या में आज शानदार तरीके से दिवाली मनाई जा रही है. ऐतिहासिक राम मंदिर की नींव पड़ने के बाद पहली बार अयोध्या में दिवाली का त्योहार मन रहा है. ऐसे में तैयारी भी खास है. सीएम योगी आदित्यनाथ दीपोत्सव कार्यक्रम में पहुंचे. सरयू घाट पर आज 5 लाख से अधिक दीयों को जलाया गया. इसके अलावा भी झांकी, लाइटिंग समेत अन्य व्यवस्थाएं की गई हैं. अयोध्या में मन रही शानदारी दिवाली से जुड़े अपडेट के लिए ब्लॉग के साथ बने रहें.

मुख्यमंत्री  योगी ने शुक्रवार को सरयू के निकट रामकथा पार्क में चतुर्थ दीपोत्सव पर्व के समारोह के अवसर पर बोलते हुए कहा कि देश में पांच शताब्दियों के संघर्षों के बाद श्रीरामजन्मभूमि पर विराजमान रामलला का भव्य मंदिर निर्माण का सपना आज पूरा हुआ है जिसकी हम सभी को एक लंबे समय से प्रतीक्षा थी। यह शुभ कार्य प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मार्गदर्शन में हुआ।

उन्होंने कहा “ हमारी पीढिय़ां बहुत ही सौभाग्यशाली हैं जो राम मंदिर निर्माण का सपना पूरा होते देख रही हैं। हमारे गुरुदेव अवैद्यनाथ, विश्व हिन्दू परिषद के सुप्रीमो अशोक सिंहल, श्रीरामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष परमहंस रामचन्द्र दास और जगद्गुरू स्वामी पुरुषोत्तमाचार्य समेत हमारे कई महापुरुषों और संतों का सपना था कि राम मंदिर का निर्माण अपनी आंखों से देख सकूं, लेकिन यह सपना नहीं देख पाये।”

मुख्यमंत्री ने कहा “ दीपोत्सव पर्व पर रामराज्य की अभिलाषा पूरी हो रही है। यह महोत्सव हजारों वर्षों के संकल्पों को पूरा कर रहा है। आज रामराज्य की परिकल्पना को पूरा करने का कार्य किया जा रहा है। इसका पूरा श्रेय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को जाता है। ”

उन्होंने कहा कि पहले धर्म के नाम पर भेदभाव होता था लेकिन आज किसी भी धर्म के नाम पर भेदभाव नहीं हो रहा है। कोरोना काल में धर्म और मजहब को छोडक़र पूरे देश में सभी वर्गों का विकास हो रहा है। हर घर में रोटी देने का कार्य हो रहा है। प्रदेश में चार करोड़ परिवारों को रोटी मिलने का कार्य किया गया। आरोग्य निधि योजना के हर गरीब का स्वास्थ्य सही करने का काम किया जा रहा है। कोरोना देश के चाहे जिस प्रदेश में रहा हो सबको बचाने का काम प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अगुवाई में हुआ है। कोरोना से लडऩे, सबको बचाने और कोरोना को परास्त करने का काम किया गया है।

मुख्यमंत्री  योगी ने कहा कि आज अयोध्या में अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट भगवान श्रीराम के नाम पर बनाने का काम किया जा रहा है, जिसके आने वाले समय में आने वाला व्यक्ति हवाई मार्ग से सीधे अयोध्या आ सकता है, चाहे उसे कोरिया से आना हो, या जनकपुर से।

उन्होंने कहा कि श्रीरामजन्मभूमि पर भव्य मंदिर का निर्माण शुरू हो गया है। कुछ सालों में यह बनकर तैयार हो जायेगा तब अयोध्या की तस्वीर एकदम बदल जायेगी और देश में रामराज्य आ जायेगा, यही हमारा सपना है।

दीपोत्सव कार्यक्रम को उत्तर प्रदेश के राज्यपाल आनंदी पटेल ने सम्बोधित करते हुए कहा कि भारतीय संस्कृति में इस पर्व का विशेष महत्व है। राम मंदिर निर्माण का कार्य आरंभ होना वास्तव में रामभक्तों के लिये उपहार है।

मुख्यमंत्री  योगी ने कहा कि मंदिर का कार्य प्रारंभ हुआ यह लोगों की आस्था का प्रतीक था। भव्य राम मंदिर वसुधैव कुटुम्ब का प्रतीक है। श्रीराम का जीवन हम सबके लिये आदर्श है। राम की लीला की परम्परा दुनिया के कई देशों में है। थाईलैंड, इंडोनेशिया, फिजी आदि देशों में राम की लीलाएं होती हैं और लोग राम के आदर्शों का अनुसरण भी करते हैं।

इस अवसर पर उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, केन्द्रीय पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, दिगम्बर अखाड़ा के महंत सुरेश दास, उदासीन आश्रम के महंत स्वामी भरद दास, महंत कन्हैया दास रामायणी, बड़ा भक्त महल के महंत अवधेश कुमार दास, वल्लभ भाई कुंज के अधिकारी राजकुमार दास, फैजाबाद लोकसभा के सांसद लल्लू सिंह, अयोध्या विधायक वेदप्रकाश गुप्ता, नगर निगम अयोध्या के महापौर ऋषिकेश उपाध्याय, विधायक खब्बू तिवारी, विधायक शोभा सिंह चौहान, विधायक गोरखनाथ बाबा, विधायक रामचन्द्र यादव सहित अन्य अधिकारी व नेता उपस्थित थे।