breaking news New

सटोरियों पर बालको पुलिस की बड़ी कार्यवाही

 सटोरियों पर बालको पुलिस की बड़ी कार्यवाही

कोरबा । टी.आई.बालको राकेश मिश्रा कृष्णा साहू व थाने टीम के सदस्य के साथ विशेष सतर्कता और तत्परता से बड़े ही सूझबूझ के साथ आरोपियों की धड़पकड़ हेतु दबिश देकर घेरा बंदी करने रणनीति बनाई गई। अत: सट्टा-पट्टी के माध्यम से रुपये पैसे का दाँव लगाकर सट्टा खेल रहे 08 आरोपियों को पुलिस सूझबूझ और कुशल रणनीति से धर दबोचा गया।

पुलिस अधीक्षक भोजराम पटेल द्वारा लगातार थाना चौकी क्षेत्र में जुवा, सट्टा, कबाड़, कोयला,डीजल और अन्य अवैध गतिविधियों पर सख्त से सख्त कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया गया है। वही समाज में व्याप्त सामाजिक अपराध पर भी विधि सम्मत वैधानिक कार्यवाही करने निर्देशित किया गया है। पुलिस कप्तान के उक्त हिदायत पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कीर्तन राठौर एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन पर सभी प्रभारियों और स्टाफ  द्वारा लगातार मुखबिर लगाकर सभी थाना चौकी और पुलिस सहायता केंद्र के क्षेत्रान्तर्गत मिशन मोड में सघन कार्यवाही की जा रही है और प्रत्येक अवैध कारोबार में लिप्त होकर लड़ाई-झगड़ा, धमकी, दहशत गर्दी, रंगदारी जैसे अवैध कृत्य से लोगों में भय और आतंक का माहौल निर्मित करते है उनके आपराधिक प्रवृति पर अंकुश लगाने बुनियादी कार्यवाही करते हुए उन्हें जेल भेजने का काम किया जा रहा है।
इसी कड़ी में मुखबिर से सूचना प्राप्त हुआ था कि आदतन, शातिर, सटोरियों के सरगना पवन कुमार यादव अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर बालको क्षेत्र में सट्टा का अंक लिखकर रुपये पैसे के माध्यम से हार जीत का दाँव लगाकर बड़े स्तर पर जुआ का खेल खेला रहे है। उक्त सूचना से तत्काल ही पुलिस अधीक्षक को अवगत कराया गया जिस पर उनके द्वारा टीम गठित करके तत्काल नव पदोन्नत अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रामगोपाल करियारे के मार्गदर्शन में दबिश देकर सटोरियों को शीघ्र पकडऩे हेतु निर्देशित किया गया। उक्त टीम द्वारा टी.आई.बालको राकेश मिश्रा कृष्णा साहू व थाने टीम के सदस्य के साथ विशेष सतर्कता और तत्परता से बड़े ही सूझबूझ के साथ आरोपियों की धड़पकड़ हेतु दबिश देकर घेरा बंदी करने रणनीति बनाई गई।

चूंकि मुख्य खाईवाल सट्टा खेलाने वाला आदतन सटोरिया है और सटोरियों के सरगना के रुप मे भोले भाले युवकों को भी जुआ और सट्टा का लत लगाकर उन्हें सामाजिक अपराध के अंधकार मय जीवन की ओर धकेलने का काम करता है। मुख्य खाईवाल पवन कुमार यादव कई जगह पर गिरोह के रूप में सट्टा चलाने की पूर्व आरोपी भी रहा है। अत: सट्टा-पट्टी के माध्यम से रुपये पैसे का दाँव लगाकर सट्टा खेल रहे 08 आरोपियों को पुलिस सूझबूझ और कुशल रणनीति से धर दबोचा गया। कुछ लोग भागने का प्रयास जरूर किये परंतु पुलिस की रणिनीति से नाकाम रहे। सट्टा के सभी आरोपियों से रुपये पैसे का दाँव लगाने वाले कुल नगदी रकमए 1,10,460 रुपये, सट्टा पट्टी एवं 08 मोबाइल को जप्त किया जाकर कब्जा पुलिस में लिया गया।