breaking news New

डीजीपी ने पुलिस कर्मियों एवं परिजनों की समस्याएं सुन तत्काल किया निराकरण

 डीजीपी ने पुलिस कर्मियों एवं परिजनों की समस्याएं सुन तत्काल किया निराकरण

रायपुर । डीजीपी  डीएम अवस्थी द्वारा 21वीं वाहिनी (भा/र) छसबल करकाभाट जिला बालोद का भ्रमण किया गया। भ्रमण के दौरान बटालियन में निर्मित पत्थर की दीवार (जिसका नाम वाल ऑफ 21सेंचुरी नाम दिया गया) एवं प्रवेश द्वार का लोकार्पण एवं राजपत्रित एवं अराजपत्रित अधिकारियों के लिए बने बैरक का भी लोकार्पण किया गया। बैरक के सामने बगीचा में चंदन पेड़ रोपण किये, उसके पश्चात 21वीं वाहिनी एवं 14वीं वाहिनी के अधिकारी/कर्मचारियों का दरबार लिया गया। 

अवस्थी के द्वारा उपस्थित अधिकारी/कर्मचारियों का उत्साह वर्धन करते हुए विभिन्न कल्याणकारी कार्यों जैसे डीजीपी मेरिट छात्रवृत्ति, संकट निधि में बढोत्तरी तथा पुलिस परिवार के छात्र-छात्राओं के उच्च शिक्षा हेतु कल्याण निधि से 5 प्रतिशत ब्याज दर से ऋण प्रदाय करने संबधी विभिन्न कल्याणकारी कार्यों का उल्लेख किया गया, अधिकारी/कर्मचारियों की परिवेदना सुनकर त्वरित निराकरण किया गया एवं बटालियन के उत्तोत्तर विकास करने में पुलिस मुख्यालय के सहयोग का आश्वासन दिया गया।

सेनानी 21वीं वाहिनी  दर्शन सिंह मरावी द्वारा वाहिनी में  किये गए कार्यों से अवगत कराया गया। इसके पश्चात पुलिस अधीक्षक बालोद  सदानंद कुमार द्वारा बटालियन में बने पत्थर के दीवार जिसकी लंबाई 300 मीटर, मोटाई 2 फ़ीट 2 इंच, ऊंचाई 8 फ़ीट जो वाहिनी के अधिकारी/कर्मचारियों द्वारा कोविड-19 लॉक डाउन के समय मार्च से जून तक बनाया गया है कि अति प्रशंसा कर वाहिनी के अधिकारी/कर्मचारियों का उत्साह वर्धन किया गया। 

उपरोक्त सम्मेलन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक  दौलत राम पोर्ते, उप सेनानी 14वीं वाहिनी  आरपी प्रधान उपस्थित थे। सम्मेलन में उपस्थित समस्त अधिकारी एवं कर्मचारी पुलिस महानिदेशक छत्तीसगढ़ को अपने बीच पाकर अति उत्साहित  हुए।