breaking news New

breaking 80 लाख की फिरौती के लिये मार्बल व्यवसायी को इन्दोर से अपहर्ताओ के चंगुल से मुक्त कराया, मास्टर माईण्ड समेत पांच गिरफ्तार

breaking 80 लाख की फिरौती के लिये मार्बल व्यवसायी को इन्दोर से अपहर्ताओ के चंगुल से मुक्त कराया, मास्टर माईण्ड समेत  पांच गिरफ्तार

उदयपुर।  राजस्थान के उदयपुर शहर में 80 लाख की फिरौती के लिए दिन दहाडे अगवा किये गए मार्बल व्यवसाई को पुलिस ने आज मध्यप्रदेश के इन्दौर जिले में एयरपोर्ट कॉलोनी स्थित एक मकान में दबिश देकर सकुशल छुड़ा लिया।

पुलिस ने इस मामले में पांच अपहरणकर्ताओं को गिरफ्तार कर उनसे वारदात में प्रयुक्त एक आल्टो कार, एक ग्लेंजा कार, एक होंडा सिटी कार एवं चोरी की एक होंडा एक्टिवा स्कूटर बरामद किया है।

गिरफ्तार अभियुक्त अनुराग अहीर (26), माधव बंसल (20) एवं मोहित उर्फ बिट्टु यादव (28) थाना केन्ट नीमच मध्य प्रदेश, सन्तोष यादव (50) इन्दौर मध्य प्रदेश एवं विपुल अजमेरा (26) थाना केन्ट नीमच हाल डुम्भाल सुरत गुजरात के रहने वाले है। पुलिस की पूछताछ में अनुराग ने बताया कि उसके विरुद्ध पूर्व में नीमच के एक पत्रकार के अपहरण का मुकदमा दर्ज हुआ है।

उदयपुर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक हिंगलाज दान ने बताया की 30 दिसम्बर को मार्बल व्यवसायी नन्द लाल माखीजा के उसके घर के बाहर से हुए अपहरण काण्ड एवं उसके बाद उसके फोन से ही 80 लाख रुपयों की फिरौती की मांग किये जाने पर प्रकरण दर्ज कर कियागया। उन्होंने बताया कि इसके लिए गठित विशेष पुलिस टीम ने पुरी सुझबुझ के साथ अथक प्रयास करते हुए चार दिन बाद अपह््त राहुल माखीजा को सकुशल ईन्दौर से मुक्त करा कर अपहरण के मास्टर माईण्ड सहित पांच अभियुक्तो को गिरफ्तार किया गया है।

जिन्होंने पुछताछ में बताया की राहुल के अपहरण की प्लानिंग के तहत वारदात के एक दिन पहले उन्होंने सहेली नगर से एक होण्डा एक्टिवा स्कुटर चोरी किया था तथा वारदात के समय ऑफिस जाते समय राहुल माखिजा की गाडी के सामने आ एक्सीडेन्ट कर गाडी रुकने पर उसके आँखो में मिर्ची डाल मारपीट कर अपहरण कर ले गये। बाद मे उसकी गाडी नवरतन के पास नम्बर प्लेट उखाड डम्प कर ग्लेन्जा कार में राहुल को हाथ पांव बांध कर डाल दिया गया।

बदमाशों ने राहुल के विभिन्न बैंको के डेबिट कार्ड व क्रेडिट कार्ड से उससे पासवर्ड पुछकर सहेली नगर एटीएम से 70,000 रुपये निकलवाये तथा राहुल के फोन से वॉट्सएप कॉल के जरिये उसके पिता नन्दु माखिजा के फोन पर 80 लाख रुपयों की मांग की गई। उन रुपयों के लिये तीन घण्टे का इन्तजार किया लेकिन पुलिस की हलचल देखकर राहुल को लेकर उदयपुर शहर से भागकर नीमच में एक फार्म हाउस पर रहे। दुसरे दिन राहुल को लेकर इन्दौर चले गये जहां एयरपोर्ट कोलोनी स्थित घर में बंधक बना कर रखा।