breaking news New

रायपुर : अगर हिम्मत है तो फटाके पर प्रतिबन्ध लगाकर दिखाए

रायपुर : अगर हिम्मत है तो फटाके पर प्रतिबन्ध लगाकर दिखाए

रायपुर। छत्तीसगढ़ में लगातार  कोरोना रिकवरी दर तेजी से बढ़ रहा है।  ऐसे में त्यौहारों का आगमन भी हो चूका है।  मां की महिमा का पर्व नवरात्री पूरे देश में हर्षोल्लास से मनाया जा रहा है। आखिरी दौर में नवरात्री पर्व पहुँच चूका है। अब विजयदशमी का पर्व आने वाला है। जिसमें श्रीराम लंकापति रावण (दशानन)का वध करते है उसी उपलक्ष्य में दशहरा का पर्व मनाया जाता है। 

भारत में दशहरा का पर्व मनाने के लिए रावण का पुतला बनाया जाता है। पुतला बनाने में फटाके वगैरह भी का उपयोग करते है। सरकार चाहे तो फटाके पर प्रतिबन्ध लगा सकती है वैसे भी सुप्रीम कोर्ट ने फटाके पर प्रतिबन्ध लगाने की आदेश जारी किया था।  अगर हिम्मत है तो फटाके पर प्रतिबन्ध लगाकर दिखाए। क्योंकि फटाके से  सबसे ज्यादा प्रदुषण फैलता है। इसका प्रदुषण हवा में मिक्स हो जाता है जिससे लोगों में हार्ट की ज्यादा ही शिकायत होती है। 

कोरोना संकट  काल में यह जरुरी हो गया है कि फटाको में प्रतिबन्ध जरुरी है। केंद्र  और राज्य सरकारों को इस विषय में सोचना होगा।