महामारी के खौफ से पति-पत्नी ने की आत्महत्या, डॉक्टरों ने शवों का पोस्टमॉर्टम करने से किया इंकार

महामारी के खौफ से पति-पत्नी ने की आत्महत्या, डॉक्टरों ने शवों का पोस्टमॉर्टम करने से किया इंकार


नईदिल्ली। देश में कोरोना महामारी से संक्रमित लोगों की संख्या 2500 के पार चली गई है।  वहीं, 70 से ज्यादा लोग की मौत भी हो चुकी है।  इसी सिलसिले में  पंजाब के अमृतसर में कोरोना के खौफ से  पति-पत्नी ने  आत्महत्या कर ली है।  उन्होंने अपने सुसाइड नोट में लिखा कि हम कोरोना वायरस के कारण नहीं मरना चाहते हैं।  हमें कोरोना से टेंशन हो गई थी। इसलिए हम पति -पत्नी आत्महत्या कर रहे है। 

यह घटना अमृतसर के बाबा बकाला के सठियाला गांव की है।  मृतकों के नाम गुरजिंदर कौर और बलविंदर सिंह हैं।  वहीं, डॉक्टरों ने शवों का पोस्टमॉर्टम करने से मना कर दिया।  पति की उम्र 65 साल थी तो वहीं पत्नी 63 वर्ष की थी। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार  कोरोना वायरस के डर से खुदकुशी के कई मामले सामने आ रहे हैं।  इससे पहले बुधवार को ही उत्तर प्रदेश के शामली में क्वारनटीन वार्ड में भर्ती कोरोना के एक संदिग्ध मरीज ने सुसाइड कर लिया।  यह युवक दो दिन पहले ही अपने गांव आया था। सांस लेने में दिक्कत होने के बाद उसे क्वारनटीन वार्ड में भर्ती कराया गया था, जिसके बाद युवक ने आत्महत्या कर ली। 

दिल्ली के  जमात के मरकज में पहुंचे एक शख्स ने भी आत्महत्या की कोशिश की।   मरकज में पहुंचे कुछ लोगों को दिल्ली के राजीव गांधी सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में भी भर्ती करवाया गया है।  एक  शख्स अस्पताल की इमारत से नीचे कूदने की कोशिश कर रहा था।  

बीते माह में  दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भी एक कोरोना वायरस के मरीज ने खुदकुशी की थी।  मरीज ने 7वीं मंजिल से कूदकर अपनी जान दे दी।  35 वर्षीय मृतक हाल ही में ऑस्ट्रेलिया के सिडनी से वापस लौटा था। लोगों में इस खतरनाक वायरस का खौफ बढ़ता जा रहा है। 

chandra shekhar