breaking news New

कृषि कानून के विरोध में आरएलपी ने छोड़ा एनडीए का साथ, दिल्ली कूच करने का ऐलान

कृषि कानून के विरोध में आरएलपी ने छोड़ा एनडीए का साथ, दिल्ली कूच करने का ऐलान

नागौर।  कृषि कानून को लेकर राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (आरएलपी) ने एनडीए का साथ छोड़ दिया है। पार्टी के संयोजक और नागौर से सांसद हनुमान बेनीवाल  ने इसकी घोषणा की है। पिछले दिनों बेनीवाल ने किसान आंदोलन के समर्थन में 26 दिसंबर को 2 लाख किसानों को लेकर राजस्थान से दिल्ली कूच करने का ऐलान किया था।

एनडीए से अलग होने के ऐलान के बाद हनुमान बेनीवाल ने मीडिया से बात की। नागौर सांसद ने कहा, "मैंने किसानों के समर्थन में एनडीए का साथ छोड़ा है क्योंकि केंद्र सरकार ने जो तीन कृषि कानून बनाए हैं, वो किसान विरोधी हैं। लेकिन मेरे एनडीए छोड़ने का अर्थ यह नहीं कि हमारी पार्टी कांग्रेस के साथ गठबंधन करेगी।"

राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के प्रमुख हनुमान बेनीवाल ने ऐलान करते हुए कहा कि केंद्र सरकार कृषि बिलों को वापिस न लेने पर अड़ी हुई है। ये तीनों बिल किसानों के खिलाफ हैं, इसलिए मैंने NDA छोड़ दी है। कांग्रेस के साथ जाने के सवाल पर हनुमान बेनीवाल ने कहा कि कांग्रेस के साथ किसी प्रकार का गठबंधन नहीं करूंगा।

इससे पहले बेनीवाल ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार के पास 303 सांसद हैं, जिस वजह से वह कृषि कानूनों को वापस नहीं ले रही है। 1,200 किलोमीटर दूर राजस्थान के किसान दिल्ली की तरफ कूच कर रहे हैं। एनडीए में बने रहने के बारे में उन्होंने कहा कि हरियाणा बॉर्डर के शाहजहांपुर में बैठक के बाद एनडीए में रहने या छोड़ने पर फैसला लिया जाएगा।