breaking news New

चेम्बर आफ कॉमर्स ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र..सीमित समय के लिए व्यापार शुरू करने की मांग..तीन महीने की लोन किश्त आगे बढ़ाने की मांग..सीएम हुए राजी..वित्त मंत्री को लिखा पत्र

चेम्बर आफ कॉमर्स ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र..सीमित समय के लिए व्यापार शुरू करने की मांग..तीन महीने की लोन किश्त आगे बढ़ाने की मांग..सीएम हुए राजी..वित्त मंत्री को लिखा पत्र

रायपुर. छत्तीसगढ़ चेम्बर ऑफ कॉमर्स एण्ड़ इंडस्ट्रीज के प्रदेश अध्यक्ष अमर पारवानी, कैट के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष विक्रम सिंहदेव, चेम्बर के महामंत्री अजय भसीन एवं कोषाध्यक्ष उत्तम गोलछा ने बताया कि आज चेम्बर ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को पत्र जारी कर प्रदेश में 6 मई से अनलॉक कर सीमित समय के लिये व्यापार-व्ययसाय करने की अनुमति देने हेतु आग्रह किया है.

साथ ही चेम्बर ने यह भी मांग रखी कि चूंकि 23 दिन से लाकडाउन है और व्यापार व्यवसाय नही चल सका है इसलिए व्यापारियों की सुविधा के लिए तीन महीने की लोन किश्त का समय भी आगे बढ़ाने की मांग की है. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस पर तुरंत सहमति देते हुए केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन को पत्र लिखकर उनसे लोन पटाने की छूट देने की मांग की है.

छत्तीसगढ़ चेम्बर ऑफ कॉमर्स एण्ड़ इंडस्ट्रीज के प्रदेश अध्यक्ष अमर पारवानी ने मुख्यमंत्री को अवगत कराया कि प्रदेश में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए राज्य सरकार द्वारा व्यापारी वर्ग के साथ साथ आम नागरिकों को राहत पहुचाने के उद्देश्य से प्रदेश में सम्पूर्ण लॉकडाउन किया गया है, जो कि उस समय आवश्यक था। चेम्बर के साथ-साथ व्यापारीवर्ग ने भी राज्य सरकार के इस निर्णय की सराहना की है। और शासन का पूरा सहयोग किया।
 
श्री पारवानी ने बताया कि प्रदेश में पिछले तीन चरणों को मिलाकर लगभग 1 माह सें लॉकडाउन है जिससे कि राज्य की आर्थिक गतिविधियां रूकी हुई है। व्यापारीवर्ग को आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है एवं आम नागरिक भी परेशान है। छोटे व्यापारी एवं मजदूर वर्ग तथा मध्यमवर्गीय परिवारों को इस समय कठिनाई के दौर से गुजरना पड़ रहा है। और साथ ही साथ आवश्यक वस्तुओ की सप्लाई चैन की स्थिति भी बिगढ़ते जा रही है और आवश्यक वस्तुओ की सप्लाई नहीं हो पा रही है।
 
श्री पारवानी ने आगे कहा कि व्यापारी वर्ग अभी भी कोरोना के पहले लहर से हुए नुकसान से अभी तक नहीं उबर पाया है और ऐसे में उसे दूसरे लहर से भी काफी नुकसान हो रहा है। होटल और रेस्टोरेंट व्ययसाय वालों का तो पूरी तरह से व्यापार बंद है, ऐसे में उन्हे कम से कम टेकअवे के साथ व्ययसाय आरंभ करने दिया जाना चाहिए। इस तरह सभी व्यापार एवं व्ययसाय को देखते हुए लॉकडाउन को आगे नहीं बढ़ाना चाहिए। पूर्ण लॉकडाउन को आगे ना बढ़ाते हुए सभी व्यापार एवं व्ययसाय को सीमित समय के लिये किया जाना चाहिए। ताकि व्यापारीवर्ग के साथ-साथ आम लोगों को भी इसका लाभ मिल सकें।

ऐसे में आपसे अनुरोध है कि लॉकडाउन के निर्णय पर पुर्नविचार करते हुए सारे व्यापार को दोपहर 3 बजे तक व्यापार करने की अनुमति दी जावे,  जिससे महामारी नियंत्रण के साथ साथ आर्थिक गतिविधियां भी समानांतर रूप से चलती रहें और साथ ही आम नागरिकों भी राहत मिलें। आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई वाले व्यापार एवं व्ययसाय को अनलॉक के प्रथम 2 दिन तक पूरे दिन तक व्यापार का समय दिया जाये ताकि जो सप्लाई चैन प्रभावित हुआ है वह सामान्य हो सकें। जिसके बाद तीसरे दिन से अन्य व्यापार एवं व्ययसाय की तरह सभी को 3 बजे तक व्यापार करने दिया जाये।

श्री पारवानी ने माननीय मुख्यमंत्री जी अनुरोध करते हुए कहा कि प्रदेश में 06.05.2021 से पूर्णतः लॉकडाउन को हटाकर सीमित समय के लिये व्यापार एवं व्ययसाय करने की अनुमति देने की कृपा करेगें। हम व्यापारीवर्ग कोरोना काल के विकट एवं विपरित परिस्थितियों में शासन द्वारा जारी सभी नियमों एवं दिशा निर्देशों का पूरा पालन करते हुए, व्यापारीयों ने आम नागरिकों को राहत पहुचाने के उद्देश्य आगामी दिनों में भी कोरोना रोकथाम हेतु जो भी निर्णय लिया जावेगा उसका पूरा पालन व्यापारी वर्ग द्वारा किया जावेगा, साथ ही करोना महामारी रोकथाम रोकने हेतु जो भी जनजागरण अभियान शासन-प्रशासन द्वारा चलाया जायेगा उसमें व्यापारी वर्ग शासन के साथ कंधे से कंधा मिलाकर कार्य करेगा।