breaking news New

खदान में गई मालिक की जान, बाहर बैठा डॉगी आज भी कर रहा है लौटने का इंतजार

खदान में गई मालिक की जान, बाहर बैठा डॉगी आज भी कर रहा है लौटने का इंतजार

दुनिया का सबसे वफादार जानवर कुत्ता ही होता है। कई ऐसे मामले आपने देखे- सुने होंगे जहां डॉग्स ने दुनिया के सामने अपनी वफादारी की मिसाल पेश की है। अब ऐसा ही एक मामला मेक्सिको से सामने आया है। हुआ ये कि यहां एक डॉगी खदान के बाहर तीन हफ्ते से बैठा हुआ है। वो अपने मालिक के खदान से बाहर आने का इंतजार कर रहा है।

धमाके में हो गई मौत एहसास नहीं है कि अब कभी भी उसका मालिक लौटकर नहीं आएगा। इंडिया टाइम्स के मुताबिक, दरअसल अब धमाके में उसके मालिक की मौत हो चुकी है। बावजूद इसके डॉगी खदान के बाहर उसके आने का इंतजार कर रहा है।

मेक्सिको के कहइला  में रहने वाले इस डॉग को स्थानीय लोग कुचफलेटो (बुलाते हैं। तीन हफ्ते से वो कोयले की खदान के बाहर बैठा है। उसे 53 साल के गोंजालो क्रूज ने गोद लिया। दोनों हर दिन एकसाथ ही खदान तक आते थे जहां गोंजालो काम करता था। गोंजालो की पत्नी बताती हैं कि दोनों सुबह साढ़े 6 में घर से निकल जाते थे। इसके बाद गोंजालो खदान के अंदर काम करने चला जाता था और कुत्ता बाहर मालिक का इंतजार करता था। रात को दोनों साथ-साथ ही वापस आते थे।

जानकारी के मुताबिक, 6 जून की बात है, गोंजालो अपने पालतू कुत्ते के साथ खदान गया था। उसी दिन वहां एक हादसा हो गया। इसमें गोंजालो की जान चली गई। 7 मजदूरों की इसमें मौत हो गई थी, गोंजालो भी इसमें शामिल थे। सभी का बाद में अंतिम संस्कार किया गया। लेकिन डॉग कुचफलेटो को अब भी अपने मालिक का इंतजार है। वो घटना वाले दिन से ही हर रोज खदान के बाहर बैठकर अपने मालिक का इंतजार करता है। वो कुछ खाता-पीता भी नहीं।

हादसे के दिन से ही डॉग लगातार रोए जा रहा है। स्थानीय लोगों का कहना है कि ऐसा लगता है मानों वो अपना दुख जाहिर कर रहा हो। उसे खदान से हटाने की कोशिश भी की गई लेकिन सुबह से रात तक वो वहां से हटता ही नहीं। जब तक गोंजालो के खदान की शिफ्ट खत्म नहीं होती, तब तक वो वहीं बैठकर उसके आने का इंतजार करता है। इसके बाद वो उदास होकर घर को चला जाता है और अगली सुबह फिर से आ जाता है।