जांजगीर चांपा : कोरोना महामारी के बीच पी.आई.एल. मे सैकड़ो मजदूरों व कर्मचारियों की जान दांव पर

 जांजगीर चांपा :  कोरोना महामारी के बीच पी.आई.एल. मे सैकड़ो मजदूरों व कर्मचारियों की जान दांव पर

     रायपुर - जांजगीर चांपा / इंटक कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष दीपक दुबे ने मेल के माध्यम से प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री को शिकायत करते हुए  बताया है  कि जहां पूरा देश कोरोना वायरस के संभावित ख़तरे से बचाव करने के चलते लॉक डाउन की स्थिति में है, वहींं जिले के चांपा स्थित प्रकाश इंडस्ट्रीज लिमिटेड (पी.आई.एल.) मे सैकड़ो कर्मचारियों से शिफ्ट वार काम लिया जा रहा है। 

 उद्योग के प्रबंधक ए के चतुर्वेदी एवं यूनियन के नेता संजय सिंग द्वारा मजदूरों को डरा धमकाकर कार्य मे आने को मजबूर कर रहे हैं  22 मार्च को राष्ट्रीय स्तर पर लॉक डाउन था उस दिन जो कर्मचारी नही आये उनको काम से निकालने की धमकी दिया जा रहा औऱ आज दिनांक तक निरंतर बल पूर्वक बिना सुरक्षा के जान पर खिलवाड़ करते हुवे काम कराया जा रहा है जिला प्रशासन के जिम्मेदार अधिकारी धारा 144 की कड़ाई से पालन करवाने की बात कह रहे है। 

 वही जिला प्रशासन के नाक के नीचे एक प्राइवेट कम्पनी सैकड़ों कर्मचारियों की जान को दांव मे लगाकर उनसे काम ले रही है जहां पीआईएल के अधिकारी खुद को आइसोलेशन ट्रीटमेंट में रख रहे हैं, वहींं कम्पनी मे काम करने वाले लेबर व स्टाप को भारी भीड़ के बीच काम कराया जा रहा है जिससे कोरोना संक्रमित होने का खतरा इनमे बढ़ता दिख रहा है। जाहिर है एैसे समय में जहां देश के प्रधानमंत्री सहित राज्य के मुख्यमंत्री के निर्देशो को पीआईएल के प्रशासक सिरे से खारिज़ करते नजर आ रहे हैं वहीं स्थानीय  जिला प्रशासन भी सब कुछ जानते हुए हाथ बांधे हुई है।

श्रम विभाग के द्वारा कारखाना बंद करने के स्पष्ट निर्देश के बावजूद पीआईएल मुनाफ़ा कमाने की होड़ में महामारी के बीच मजदूरों व कर्मचारियों की जान को दांव मे लगा कर आर्थिक लाभ कमाने में लगी है, जो चिन्ता का विषय है। 

मजदुर संघ ने प्रशासन से मांग  करते हुए तत्काल कार्यवाही करते हुए उद्योग प्रबंधक और यूनियन नेता के ऊपर मामला दर्ज कर कार्यवाही करें साथ ही कार्यरत सभी ठेका कर्मचारियों के वेतन भुगतान तत्काल करवाने की कृपा करें।

chandra shekhar