breaking news New

माफी आप को नहीं बल्कि शहर महापौर को मांगनी चाहिए - तरुणा बेदरकर

माफी आप को नहीं बल्कि शहर महापौर को मांगनी चाहिए - तरुणा बेदरकर


आयोजन से कोई आपत्ति नहीं किन्तु गाने की फूहड़ता से है आपत्ति - तरुणा बेदरकर

जगदलपुर, 26 मार्च। आप नेत्री तरुणा बेदरकर द्वारा जारी बुधवार की विज्ञप्ति पर कांग्रेस की महिला नेत्री कमल झज्ज, एम आई सी सदस्य यशवर्धन राव सहीत तमाम कांग्रेस के नेता एवं पार्षदों ने चौतरफा हमला बोल दिया है और महिला अस्मिता से जुड़ी सवाल पर पलटवार करते हुए उल्टे आम आदमी पार्टी एवं पार्टी की जिला अध्यक्षा तरुणा बेदरकर को माफी मांगने की बात कही जा रही है जिस पर आप नेत्री ने कड़ा रुख अपनाते हुए शहर महापौर सहित जुम्बा के आयोजकों द्वारा क्षेत्र की महिलाओं से माफी मांगने की अपील की है।

श्रीमती बेदरकर ने कहा कि स्वच्छता सर्वेक्षण के दैरान की गई किसी भी तरह के आयोजनों से किसी को कोई गुरेज नहीं है किंतु इस तरह के शासकीय आयोजनों में महिला अस्मिता की धज्जियां उड़ाना क्षेत्र की महिलाओं के लिए बड़ा ही दुर्भाग्यपूर्ण है जबकि हमारे शहर की महापौर स्वयं युवा महिला नेत्री हैं। एक महिला नेत्री हाथों में शहर का दायित्व होने के बावजूद उन्हीं के गरिमामयी उपस्थिति में क्षेत्र की महिलाओं की अस्मिता से जुड़ी बातों को हल्के में लेना और फूहड़ गाने के माध्यम से महिला अस्मिता का धज्जि उड़ाना दुर्भाग्यपूर्ण। उन्होंने आगे कहा कि श्रीमती कमल झज्ज क्षेत्र के एक दबंग महिला नेत्री है और जिन से स्थानीय महिलाएं की काफी सारी उम्मीदें जुड़ी है। सत्ताधारी पार्टी की नेत्रियां होने के कारण श्रीमती कमल झज्ज और महापौर सफिरा साहू की ओर क्षेत्र की महिलाओं और युवतियां आशा भारी निगाह से देखती हैं। ऐसे में महज पार्टी का समर्थन करने के नाम से लाव-लश्कर लेकर महिलाओं के अस्मिता के खिलाफ भी कूद पड़ना इन दोनों नेत्रियों को शोभा नहीं देती है। रही बात जुम्बा डांस की तो मैं खुद जुम्बा की नियमित प्रैक्टिशनर हूँ अतः जुम्बा से कोई आपत्ति नहीं है आपत्ति उक्त फूहड़ गाने के चयन से है वो भी शहर की प्रथम महिला की गरिमामयी उपस्थिति में। आगे कहा कि जहां तक बात शहर सफाई की है वह निश्चित तौर पर सराहनीय है और ये बात क्षेत्र के सर्वसाधारण को पता है कि आम आदमी पार्टी अपनी झाड़ू और सफाई के नाम से जानी जाती है जिसने पूर्व में सड़कों, नालियों और कीचड़ में उतर कर साफ करते रहे हैं और आज भी पार्टी सफाई को प्राथमिकता देती है। लेकिन सार्वजनिक आयोजन में बजाए गए उक्त फूहड़ गाने की खिलाफत हर मोर्चे पर करेगी।

श्रीमती बेदरकर ने कहा है कि अगर मैं गलत होती तो दो कदम बढ़ कर माफी मांग लेती लेकिन ये मुद्दा महिला अस्मिता की है और मैं इस विषय पर पीछे हटने वाली नहीं हूँ फिर चाहे सारी की सारी कांग्रेस पार्टी ही क्यों न कूद पड़े। उन्होंने आगे कहा कि इस विषय को लेकर वह महिला आयोग, महिला बाल विकास एवं छत्तीसगढ़ संस्कृति मंत्रालय में शिकायत दर्ज करेंगी और कहा कि वे आम आदमी पार्टी की प्रदेश महिला इकाई से लगातार संपर्क में और इस विषय से जुड़ी तमाम वीडियो एवं फ़ोटो एविडेन्स पर अध्ययन कर रहें है और जरूरत पड़े तो राज्य स्तर पर आंदोलन करेंगे।