breaking news New

गणेश प्रतिमा को अंतिम स्वरूप देते मुर्तिकार

 गणेश प्रतिमा को अंतिम स्वरूप देते मुर्तिकार

सुकमा  : गणेश चतुर्थी को कुछ दिन शेष है और सुकमा के लगभग सारे वार्डो मे गणपति जी विराजमान होते रहे है लेकिन कोविड महामारी को  कलाकार ध्यान मे  रखकर मुर्तिया बना  रहे है इस वर्ष घरो पर ही सथापना के लिऐ छोटी मुर्तियो की निर्माण  की अनुमती जिला प्रशासन द्वारा दी गई ।सुकमा के कलाकार मिट्टी  की ढेर को एक ऐसी मनमोहक रूप आकार व सजीव रूप देने मे लगे है जहा कलाकारो द्वारा ऐसे भाव भागीमा पेश की जाने की कोशिश रहती की  जिससे  भक्तो के मनमोह जाए ।पर्व नजदीक है कलाकार गणेश भगवान की प्रतिमाओं को अंतिम रूप देने में जुटे है ।कलाकार प्रसन्नजित ने बताया  विभिन्न रंगों से प्रतिमाओं को सजिव चित्रण करने की कोशिश की जा रही । जो भक्तों को अपनी ओर आकर्षित कर रही है भक्तो मे मु्ति स्थापना के प्रति काफी उत्साह भी है जो इस वर्ष गणेश पुजन मे रौनक बिखेरेगी । कलाकार प्रसन्नजीत ने गणेशोत्सव को लेकर कुछ मूर्तियो की पूरी तरह से तैयारी कर ली है और कुछ मे लगे है  उन्होने बताया की इस वर्ष मिट्टी की ही छोटी प्रतिमा बनाई जा रही  है कोरोना प्रोटोकाल को ध्यान मे रख छोटी मुर्ति बनाऐ जा रहे तो वहीं मूर्तियों की डिमांड इस वर्ष कम  है।    श्रद्धालु भगवान गणेश की प्रतिमा खरीदकर ले जाने को व्याकुल  है, अबकी बार  भगवान गणपति जी 10सितम्बर को विराजमान होंगें । जिसके चलते  श्रद्धालुओं में गणेश चतुर्थी पर्व बनाने को लेकर उत्साह है। श्रध्दालु अपने अपने तरीके से गणेशोत्सव मनाने के तैयारी में जुट चुके है।

इस साल कलाकारो द्वारा मिट्टी की ही गणेश प्रतिमा बनाई जा रही। कोरोना गाईड लाईन के अनुसार छोटे आकार के ही प्रतिमा  स्थापित होंगे ।तथा कलाकारो मे महगांई को

लेकर भी चिंता है जिससे प्रतिमा की राशि अधिक रखनी पढ रही है  श्रध्दालुओं को आर्थिक भार ज्यादा न पढे यहा भी ध्यान रखना होता  है