breaking news New

राशन कार्ड और आधार कार्ड के जरिये बनाया जा रहा मुफ्त इलाज के लिए ई-कार्ड

राशन कार्ड और आधार कार्ड के जरिये बनाया जा रहा  मुफ्त इलाज के लिए  ई-कार्ड

सूरजपुर । आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना एवं डॉ खुबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजनांतर्गत जिले के सभी पात्र परिवारो का ई-कार्ड बनाया जा रहा है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी आर.एस. सिंह ने बताया कि सामाजिक आर्थिक जातीय जनगणना 2011 के अनुसार पात्र परिवारों को आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजनांतर्गत 5 लाख तक का इलाज की सुविधा उपलब्ध कराया जा रहा हैं।

योजनांतर्गत नगद रहित, कैषलेष ईलाज पंजीकृत चिकित्सालयों में प्राप्त होगा एवं डॉ खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजनांतर्गत राज्य के प्राथमिकता एवं अन्तयोदय राशन कार्ड धारी को 5 लाख तक एवं राज्य के अन्य राशन कार्ड धारी को 50 हजार रू. तक का नगद रहित ईलाज पंजीकृत चिकित्सालय में प्राप्त होगा।

स्वास्थ्य केंन्द्रो में बनाया जा रहा हैं आयुष्मान भारत ई-कार्ड:-

सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भैयाथान, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भटगॉव, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लटोरी, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बिश्रामपुर, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र ओडग़ी, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, प्रतापपुर, सामुदायिक, स्वास्थ्य केन्द्र प्रेमनगर, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र रामानुजनगर, जिला हॅास्पिटल सूरजपुर, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र सिलौटा, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र रेंवटी, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र करसी, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पंपापुर, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पेंण्डारी, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र सोनपुर, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र गौरपानी, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र चुनगुड़ी, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र तारा, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र महंगई, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र केतका, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र करंजी, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र कमलपुर, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र कल्याणपुर, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र परषुरामपुर, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र चंदरपुर, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र उमापुर, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र देवनगर, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र मोहरसोप, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र चेंन्द्रा, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र धरसेड़ी, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र खोड़, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र लांजित।

कोरोना का भी होगा मुफत इलाज:-  सीएमएचओ डॉ. आर.एस. सिंह नेे बताया कि इस योजना का लाभ कोरोना संक्रमित मरीज भी ले सकते हैं। उन्होने बताया कि कोरोना संक्रमित होने के बाद सरकारी अस्पतालों से ईलाज करवाकर ठीक हुए मरीजों को भी योजना अंतर्गत ई-कार्ड आयुष्मान कार्ड बनाया जा रहा है।

5 लाख तक कैषलेष इलाज के लिए शासन की योजनांतर्गत ई-कार्ड जिले के 46 चिकित्सा केंद्रों में बनाया जा रहा हैं। डॉ आर.एस. ंिसंह ने बताया कि जब भी अस्पताल आये तो अपना राशन कार्ड व आधार कार्ड अवष्य लेकर आये।