breaking news New

उसना राईस मिल के खिलाफ जनप्रतिनिधियों ने प्रशासन को सौंपा ज्ञापन

उसना राईस मिल के खिलाफ जनप्रतिनिधियों ने प्रशासन को सौंपा ज्ञापन

किसानों के फसल हुई बर्बाद, जमीन हो रही बंजर, ग्रामीणों को हो रही अन्य तरह की बीमारियां, प्रशासन तत्काल बंद करें मिल को

सूरजपुर, 22  अक्टूबर। उसना राईस मिल प्लांट के दुष्प्रभाव से सड़के तो जर्जर हो ही गई है। साथ ही इसके प्रकोप से ग्राम पंचायत पसला डुमरिया, नरेशपुर के किसानों का फसल बरबाद हो चुका है। वहीं प्लांट के आस - पास की भूमि बंजन होने के कगार पर है। तो वहीं स्थानीय ग्रामीणों को अनेकों तरह की बीमारियों के प्रकोप में आ रहे है। प्लांट को तत्काल प्रभाव से बंद करने तथा नष्ट हुए फसल का ऊचीत मुआवजा की मांग की है। 

गौरतलब है कि सुरजपुर जनपद पंचायत के अंतर्गत ग्राम पंचायत पसला में उसना राइस मिल प्लांट स्थापित करवाया गया है तथा उक्त मील से निकलने वाली गन्दा व गर्म पानी से ग्राम पसला, डुमरिया, नरेशपुर के किसानों की फसल जलकर खराब हो गई है। तो वहीं कुछ बचे हुए खराब होने के कगार पर है।  इस प्रकार गांव के गरीब किसानों का एक मात्र आधार कृषि ही है और कृषि से होने वाले उपज से जिविकों पार्जन होता है। जिसके चलते किसानों को आर्थिक नुकसान हो रहा है। 

जिला पंचायत सदस्य शशि सिंह ने बताया कि उक्त गावों के गरीब किसानों को अपूर्णनीय क्षति होगी और भुखों मरने की स्थिति उत्पन्न हो जायेगी एवं उसना राईस मिल प्लांट के आस - पास के किसानों का भूमि बंजर होने के कगार पर है ऐसी स्थिति में किसानों को अपूर्णनीय क्षति होने की सम्भावना है। उसना राईस मिल प्लांट से निकलने वाले गैस से आस - पास के ग्रामीणों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है एवं आयेदिन ग्रामीण लोगों को नई - नई बिमारियों का सामना करना पड़ रहा है। जिला प्रशासन को बीते दिनों ज्ञापन सौंपकर उचित मुआवजा देने तथा राईस मिल प्लांट को तत्काल बंद करने की मांग की है। 

बतादें कि राईस मिल के कारण आस पास के ग्रामीण आये दिन आंदोलन करते हुए देखे जा सकते है। राईस मिल प्लांट मालिक रसूख दार होने के कारण उन पर किसी तरह का कोई ठोस कार्यवाही अब तक देखने को नहीं मिला है।