breaking news New

बच्चे का अपहरण कर फिरौती मांग, गिरफ्तार

बच्चे का अपहरण कर फिरौती मांग, गिरफ्तार

जांजगीर - चांपा, 5 नवंबर।  धारा 363 भादवि मामले के अंतर्त 4 नवंबर को प्रार्थी राजेन्द्र कुमार कुरे पिता रतनलाल कुरे उम्र 35 साल साकिन वार्ड क्रमांक 02 ठड़गाबहरा बलौदा थाना बलौदा में आकर मौखिक रिपोर्ट दर्ज कराया कि समय सुबह लगभग 9:30 बजे एक मोटर सायकल में सवार अज्ञात व्यक्ति सुबह 11:00 बजे द्वारा इसके नाबालिक पुत्र उम्र 06 वर्ष को बहला फुसलाकर मोटर सायकल में बैठाकर महुदा की ओर भगाकर ले गया है । जिसे अपहृत बालक के साथ खेल रहा एक 06 साल का बच्चा देखा है कि प्रार्थी की रिपोर्ट पर थाना बलौदा में अप 0 कं 0 269/20 धारा 363 भादवि पंजीबद्ध कर अपराध की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक पारूल माथुर एवं अति 0 पुलिस अधीक्षक मधुलिका सिंह तथा अनु ० अधि 0 पुलिस दिनेश्वरी नंद , डीएसपी यातायात संदीप मित्तल , डीएसपी रितेश चौधरी , तत्काल मौके पर पहुचकर पुछताछ कर थाना प्रभारी बलौदा विनोद मण्डावी , थाना प्रभारी अकलतरा जितेन्द्र बंजारे , थाना प्रभारी मुलमुला उमेश साहू , थाना प्रभारी जांजगीर , लखेश केंवट , थाना प्रभारी पामगढ़ के 0 पी 0 टण्डन एवं अन्य पुलिस अधिकारी एवं स्टाप को आवश्यक दिशा निर्देश देतु हुये त्वरित कार्यवाही करने के आदेश दिये , तथा अज्ञात आरोपी के पतासाजी हेतु नाकेबंदी करने हेतु जिला जांजगीर चांपा के अलावा सरहदी जिला कोरबा एवं बिलासपुर को सूचना दी गई । जहाँ से विभिन्न जिलों के समस्त टीम अपहृत अबोध बालक को सकुशल बरामद करने में जुट गई । इसी दौरान दोपहर करीब 02:40 बजे अज्ञात आरोपी ने अपने मोबाइल से प्रार्थी राजेन्द्र कुमार कुर्रे से अपहृत बालक को छोड़ने के एवज मे पाँच लाख रूपये फिरौती की मांग की गई । जिस पर अज्ञात आरोपी के मोबाईल नं 0 को जिला जांजगीर चांपा तथा बिलासपुर के साइबर सेल के माध्यम से सर्विलांस लिया गया जिस पर आरोपी द्वारा बार - बार स्थान बदल रहा था , रात्रि लगभग 09:57 बजे पुनः आरोपी द्वारा फिरौती की रकम के लिये प्रार्थी को फोन किया गया । जिस पर समस्त संभावित स्थानों पर पुलिस की विभिन्न टीमो द्वारा एक साथ रेड कार्यवाही करते हुये आरोपी के चंगुल से अपहृत बालक को सकुशल बरामद करने में सफलता हासिल हुई है । आरोपी से कड़ाई से पूछताछ की गई जिस पर से कई बड़े चौकाने वाले बातों का खुलासा हुआ । उक्त मामले का मुख्य आरोपी प्रार्थी का सगा रिश्तेदार राजू कुर्रे है जो प्रार्थी के चचेरा भाई है , जिसने एक अन्य आरोपी अंकित खाण्डेकर के साथ मिलकर उक्त घटना को अंजाम दिया । घटना का मास्टर माईंड मुख्य आरोपी विश्वजीत उर्फ राजा कुरे है , जिसने अपने भाई राजेन्द्र कुर्रे के कारोबार दुकानदारी को फलते - फुलते देखकर सहयोगी आरोपी अंकित खाण्डेकर को अपने प्लान में शामिल किया। और अंकित को अपने प्लॉन के मुताबिक ग्राम ठड़गाबहरा बुलाकर राजेन्द्र ( अपहृत बालक के पिता ) के घर से बाहर रहने का फायदा उठाकर अपने भाभी उषा कुरे ( अपहृत बालक की मां ) को सामान देने के बहाने दुकान में उलझाकर रखा तथा इसी बीच घर के बाहर खेल रहे बालक को अंकित खाण्डेकर के माध्यम से अपहरण कराया तथा ग्राम सोनसरी के पास से स्वयं के दिये मोबाईल सीम से अपहृत बालक के पिता राजेन्द्र कुरे से फिरौती की रकम को मांग कराया तथा स्वयं परिवार का शुभचिंतक बनकर राजेन्द्र कुरे के साथ मांगे गए फिरौती रकम की व्यवस्था कराने में जुटा हुआ था । 


पुलिस की टीम द्वारा ग्राम देवगांव थाना मस्तुरी में देर रात की गई रेड कार्यवाही में आरोपी अंकित खाण्डेकर के कब्जे से बालक की सकुशल रिहाई की गई , तथा अंधेरा का फायदा उठाकर भागने का प्रयास कर रहे अंकित खाण्डेकर को घेराबंदी कर पकड़ा गया , कडाई से पूछताछ करने पर उसने पुरे मामले का खुलासा किया , थाना बलौदा से एक टीम द्वारा मास्टर माइंड राजा कुर्रे को गिरफ्तार किया गया । जिसने पूछताछ में घटना कारित करना स्वीकार किया । आरोपीयों के द्वारा अपहरण कर फिरौती की मांग करने का अपराध पाये जाने पर धारा 363 भादवि के साथ 364 ( क ) भादवि जोड़ी जाकर मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है । अग्रिम कार्यवाही की जा रही है । उपरोक्त कार्यवाही में पुलिस अधीक्षक बिलासपुर प्रशांत अग्रवाल , अति 0 पुलिस अधीक्षक संजय ध्रुव , अंति 0 पुलिस अधीक्षक उमेश कश्यप , अति 0 पुलिस अधीक्षक दीपमाला कश्यप सहित बिलासपुर जिले के समस्त थाना प्रभारी सायबर सेल एवं उनकी टीम का सराहनीय योगदान रहा है।