breaking news New

घटी हुई क्लास साइज के साथ खुलेंगे देशभर के कॉलेज- विश्वविद्यालय

घटी हुई क्लास साइज के साथ खुलेंगे देशभर के कॉलेज- विश्वविद्यालय

नई दिल्ली, 8 नवंबर। मार्च से बंद देशभर के कॉलेज, विश्वविद्यालयों को खोलने के लिए विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) ने गाइडलाइन्स जारी कर दी हैं। यूजीसी की नई  गाइडलाइन्स के अनुसार, देशभर के कॉलेज और विश्वविद्यालय घटी हुई क्लास साइज के साथ खुलेंगे। आगे देखें छात्र कब और कैसे जा सकेंगे अपने कॉलेज।

विश्वविद्यालयों को फिर से खोलने के लिए जारी की गई यूजीसी गाइडलाइन्स के अनुसार, कॉलेजों में आइसोलेशन रूम, स्टाफ और छात्रों की स्क्रीनिंग जैसे कई नियम लागू होंगे। यूजीसी के नोटिफिकेशन के अनुसार, केंद्रीय विश्वविद्यालयों या केंद्र सरकार से आर्थिक सहायता प्राप्त संस्थान के खुलने का फैसला वाइस चांसलरों/संस्थान प्रमुखों पर छोड़ दिया गया है।

वहीं राज्य विश्वविद्यालयों/शैक्षिक संस्थानों को खोलने के बारे में उस राज्य की सरकार को फैसला लेना है कि कॉलेज/विश्विविद्यालय कब से खोले जाएं। कोरोना वायरस संक्रमण फैलने के खतरे को देखते हुए लक्षण दिखने पर छात्रों और शिक्षकों की जांच कराने के बाद ही संस्थान में प्रवेश देने की सलाह दी गई है। बाकी छात्र व स्टाफ को भी थर्मल स्क्रीनिंग के साथ ही प्रवेश दिया जाएगा।

यूजीसी गाइडलाइन्स् के अनुसार, छात्रों/शिक्षकों में कोरोना के लक्षण दिखने पर कैम्पस ही क्वारंटाइन की सुविधा उपलब्ध करानी होगी। साथ संक्रमितों के लिए आइसालेशन सुविधा होनी चाहिए। इसके लिए संस्थान चाहें तो सरकारी अस्पतालों के साथ गठबंधन भी कर सकते हैं।

कॉलेजों को खोलने से पहले वहां सुरक्षा, स्वास्थ्य, भोजन और पानी की भी उचित व्यवस्था करनी होगी। 

ज्यादातर राज्यों में चरणबद्ध तरीके से स्कूल-कॉलेजों को खोलना शुरू कर दिया गया है। हालांकि पिछले कुछ दिनों में हुए ऐलान से छात्रों की कॉलेजों में वापसी को अनिश्चितता में डाल दिया है।

पंजाब और हरियाणा सरकारों ने अभी 16 नवंबर से कॉलेजों में छात्रों को बुलाने की अनुमति दी है। वहीं ओडिशा सरकार ने 30 नवंबर तक सभी स्कूल और कॉलेजों को बंद रखने का निर्देश दिया है।

राजस्थान सरकार ने स्कूल-कॉलेजों को खोलने के फैसले पर कहा है कि 16 नवंबर के बाद हालात का जायजा लेने के बाद स्कूल-कॉलेजों को खोलने पर कोई फैसला लिया जाएगा।