breaking news New

कीटनाशक दवाई दुकानों की जांच जारी ,53 नमूने जांच के लिए भेजे गए, दस्तावेजो में अनियमितता पर कारण बताओ नोटिस जारी

कीटनाशक दवाई दुकानों की जांच जारी ,53 नमूने जांच के लिए भेजे गए, दस्तावेजो में अनियमितता पर कारण बताओ नोटिस जारी

     सक्ती जांजगीर चांपा।  कलेक्टर यशवंत कुमार ने  किसानों को फसल के लिए बाजार मे उपलब्ध कीटनाशकों और दवाइयों की गुणवत्ता पर सतत निगरानी के लिए जांच की कार्रवाई की जा रही है। कलेक्टर ने अमानक कृषि आदान व गैर पंजीकृत संस्थानों पर कार्रवाई करने के सख्त निर्देश दिए हैं।

       उप संचालक कृषि ने बताया कि कृषि विभाग के अधिकारियों द्वारा जांच के लिए टीम बनाई गई है। जिसके द्वारा सतत जांच एवं कार्यवाई की जा रही है। खरीफ वर्ष 2020-21 में कीटनाशक अधिनियम 1968 के नियम 1971 का क्रियान्वयन एवं किसानों को कृषि आदान सामग्री पौध संरक्षण दवाई की गुणवत्तायुक्त उपलब्धता समय पर कराने के निर्देश दिए गए है। बाजार मे उपलब्ध 53 कीटनाशकों का सैंपल जांच के लिए कीटनाशक गुण नियंत्रक प्रयोगशाला जिला राजनांदगांव एवं केंद्रीय कीटनाशक गुण नियंत्रण प्रयोगशाला फरीदाबाद भेजे गए हैं। इनमें से 26 सैंपल मानक स्तर के पाए गए और 27 की जांच रिपोर्ट अप्राप्त है।

 जिला स्तरीय टीम और कृषि विभाग के अनुविभागीय अधिकारियों के द्वारा सक्ती और पामगढ़ क्षेत्र के खाद-बीज विक्रेताओं के प्रतिष्ठानों की जांच की गई। अदान सामग्रियों के क्रय-विक्रय एव भण्डारण संबंधित दस्तावेजों में अनियमितता पायी जाने पर कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। इसी प्रकार सामग्रियों का बिना अधिकार पत्र के विक्रय करने एवं भण्डारित करने पर जप्ती की कार्यवाई की गई।