breaking news New

बीएम शाह के डॉक्टरों ने दुर्घटना में घायल व्यक्ति का पैर कटने से बचाया टीम के साथ जटिल ऑपरेशन को सफल बनाया

बीएम शाह के डॉक्टरों ने दुर्घटना में घायल व्यक्ति का पैर कटने से बचाया टीम के साथ जटिल ऑपरेशन को सफल बनाया

भिलाई। दुर्घटना में घायल व्यक्ति को बीएम शाह अस्पताल में नया जीवन मिला। डॉक्टरों ने घायल व्यक्ति को न सिर्फ बचाया बल्कि पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो चुके पैर को कटने से बचाया। शहर के मशहूर प्लास्टिक सर्जन डॉक्टर दीपक कोठारी व आर्थो सर्जन डॉक्टर अभय प्रताप सिंघ एवं ट्रामा टीम के सहयोग से समय रहते एक जवान आदमी के पैर का कटने से बचाया गया। 

सड़क दुर्घटना में घायल मरीज अनिल अग्रवाल (45) जिला रायगढ़ के खडगांव, धनंजयगढ़ का निवासी है। इन्हें बीएम शाह हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया।  डॉक्टरों द्वारा जांच करने पर देखा कि मरीज का दायां पैर बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया। जिससे खून का अत्याधिक रिसाव हो रहा था, इस आपातकालीन स्थिति में घायल मरीजे को तुरंत आर्थो एवं प्लास्टिक सर्जरी के लिए लिया गया। जिसमें मरीज़ की पहले हड्डियों को व्यवस्थित किया गया एवं मासपेशियों व नसों को ठीक कर मरीज़ के ब्लड सर्कुलेशन को सही किया गया जिससे मरीज के पैर और उनकी उंगलियों को नीला पडऩे से बचाया जा सके।

इसके बाद मरीज को दुबारा ऑपरेशन में लिया गया और व्यवस्थित किए हुए पैर की स्किन खराब होने की वजह से उस पैर पर दूसरे जगह से स्किन ग्राफ्टिंग की गई अत: मरीज़ का पैर कटने से बचाया गया। मरीज के रिश्तेदारों ने बीएम शाह हॉस्पिटल की ट्रामा टीम का आभार जताते हुए कहा कि मरीज का पैर कटने से बचा कर बीएम शाह हॉस्पिटल ने हमें दीवाली का उपहार दिया है।

इस सफलता के लिए हॉस्पिटल के असिस्टेंट डायरेक्टर डॉक्टर अरुण मिश्रा ने बीएम शाह हॉस्पिटल के ट्रामा टीम डॉक्टरों को बधाई दी एवं आम जनता से अपील भी की। उन्होने कहा कि किसी भी सड़क दुर्घटना में घायल मरीज का प्राथमिक उपचार बीएम शाह हॉस्पिटल में पूर्णत: निशुल्क है। इसलिए आम जनता से अपील है कि किसी भी घायल मरीज को समय ना गवांते हुए अस्पताल छोडे जिससे उनकी जान बचाई जा सके।