संयुक्त संचालक कोष लेखा से सेवानिवृत्त कर्मचारी को नहीं मिल रहा न्याय - राज्य कर्मचारी संघ

संयुक्त संचालक कोष लेखा से सेवानिवृत्त कर्मचारी को नहीं मिल रहा न्याय - राज्य कर्मचारी संघ

रायपुर, 11 अप्रैल। संयुक्त संचालक कोष लेखा पेंशन दुर्ग सम्भाग पर मुख्यमंत्री के प्रयासों पर पानी फेरने और सेवानिवृत्त कर्मचारी को विगत पांच माह से आर्थिक रूप से प्रताड़ित करने का आरोप राज्य कर्मचारी संघ ने लगाया है ।

    संघ के प्रांताध्यक्ष शशिकांत सिंह गौतम ने प्रेस को जारी बयान में कहा है कि मत्स्य निरीक्षक पद से सेवानिवृत्त कर्मचारी प्रकाश जैन को तीसरा समयमान वेतनमान का लाभ विगत नवंबर माह में मिल जाना था । श्री गौतम ने बताया कि मुख्यमंत्री भुपेश बघेल के निर्देश पर 30 वर्ष सेवा पूर्ण करने वाले समस्त कर्मचारियों को तीसरा समयमान वेतनमान देने के लिए  संचालनालय कोष लेखा पेंशन के द्वारा 29 अगस्त 2019 को आदेश क्र 3319 आदेश जारी भी किया गया है।

    इस आदेश के तहत कोषालय कवर्धा के द्वारा लगभग पांच माह पूर्व सेवानिवृत्त मत्स्य निरीक्षक श्री जैन को तीसरा समयमान का लाभ दिया जाने का प्रकरण आनलाइन तैयार कर संयुक्त संचालक कोष लेखा पेंशन दुर्ग को भेजा जा चुका है । पांच माह बीत जाने के बाद भी संयुक्त संचालक के द्वारा प्रकरण को अकारण लंबित रखा गया है।  श्री गौतम ने संचालक कोष लेखा पेंशन से श्री जैन को तीसरे समयमान वेतनमान का लाभ दिलाने और संयुक्त संचालक दुर्ग से पूरे प्रकरण पर वस्तुस्थिति स्पष्ट लेने की मांग की है।