breaking news New

युवोदय एकेडमी से प्रशिक्षण लेकर 32 विद्यार्थियों ने हासिल की नीट परीक्षा में सफलता, संसदीय सचिव जैन और कलेक्टर बंसल ने दी बधाई

 युवोदय एकेडमी से प्रशिक्षण लेकर 32 विद्यार्थियों ने हासिल की नीट परीक्षा में सफलता, संसदीय सचिव जैन और कलेक्टर  बंसल ने दी बधाई


जगदलपुर।   कोरोना के दौरान विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले बच्चों की समस्या को देखते हुए युवोदय एकेडमी के माध्यम से निःशुल्क ऑनलाइन कोचिंग की व्यवस्था का लाभ लेकर  नीट जैसी कठिन परीक्षाओं में बड़े पैमाने पर बच्चों ने सफलता प्राप्त की। 

युवोदय एकेडमी के माध्यम से कोचिंग लेकर सफलता प्राप्त करने वाले इन बच्चों से संसदीय सचिव  रेखचन्द जैन, कलेक्टर रजत बंसल सहित जगदलपुर के पत्रकारों से भेंट की। लाला जगदलपुरी केंद्रीय ग्रंथालय परिसर में संचालित युवोदय एकेडमी के कार्यालय में इस अवसर पर संसदीय सचिव  रेखचन्द जैन ने कहा कि आदिवासी अंचल के बच्चों को शिक्षा के माध्यम से आगे बढ़ने के संकल्प को कलेक्टर   रजत बंसल ने बहुत ही सुंदरता के साथ आगे बढ़ाया है।

कोरोना के दौरान जनजीवन ठप्प पढ़ने के कारण प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले बच्चों के सामने एक गंभीर संकट की स्थिति उत्पन्न हो गई, किन्तु इसका समाधान ऑनलाइन कोचिंग के माध्यम से निकल गया। इसका परिणाम यह हुआ कि छोटे -छोटे गांवों में रहने वाले विद्यार्थियों के मन में भी अब इन प्रतियोगी परीक्षाओं में बैठने की इच्छा होने लगी है।

इन परीक्षाओं की तैयारी के लिए लगने वाली महंगी कोचिंग के स्थान पर यह निःशुल्क कोचिंग सहज ही उपलब्ध है। उन्होंने सभी सफल विद्यार्थियों को बधाई देते हुए उज्ज्वल भविष्य की कामना की।

इस अवसर पर कलेक्टर रजत बंसल ने कहा कि बच्चों की समस्याओं को देखते हुए इनकी सहायता के लिए स्वयंसेवियों ने सहायता की। उन्होंने परिणामों को उत्साहजनक बताते हुए कहा कि जिले के प्रतिभावान विद्यार्थियों को उचित स्थान दिलाने के इसे और अधिक व्यापकता प्रदान करने की बात भी कही। इस अवसर पर जिला शिक्षा अधिकारी श्रीमती भारती प्रधान, आदिवासी विकास विभाग के उपायुक्त श्री विवेक दलेला, युवोदय एकेडमी के  एलेक्जेंडर चेरियन उपस्थित थे।

उल्लेखनीय है कि राज्य शासन के "पढ़ई तुंहर दुआर" के अन्तर्गत शिक्षा में नवाचार करते हुए स्कूली शिक्षा के साथ साथ कोचिंग की व्यवस्था सरकारी शिक्षकों के माध्यम से करवाकर, कोरोनाकाल में बच्चों की शिक्षा को रूकने नहीं दिया गया। इसी कड़ी में जिला प्रशासन बस्तर द्वारा जरूरतमंद बच्चों के लिए निःशुल्क कोचिंग लाला जगदलपुरी जिला ग्रंथालय परिसर में युवोदय अकादमी के द्वारा प्रारंभ किया गया।

सत्र 2020-21 में किये गये कार्य में 10वीं एवं 12वीं के बोर्ड परीक्षा की तैयारी करवाया गया।सभी स्कूलों के 10वीं एवं 12वीं के छात्र-छात्राओं के लिए नोट्स (पीडीएफ फॉर्म में) सभी शालाओं तक पहुंचाया गया। परीक्षा के पूर्व 3 मॉडल प्रश्न पत्र स्कूलों तक पीडीएफ फॉर्म में पहुंचाया गया।आगामी एनईईटी, जेईई, पीईटी, पीएटी, एनडीए, बीएससी नर्सिंग, एनटीएसई आदि परीक्षाओं की तैयारी ऑनलाइन/ऑफलाइन मोड में करवाया गया।अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी एवं मार्गदर्शन भी दिया जा रहा है।वर्तमान में सेना भर्ती परीक्षा की तैयारी भी जिले के सभी ब्लॉकों में युवोदय अकादमी के द्वारा करवायी जा रही है। 

पहले बैच के 52 बच्चों में से 43 बच्चों ने एनईईटी का परीक्षा दिया जिसमें 32 बच्चों ने एनईईटी क्वालीफाई किया है ।इसके अतिरिक्त 02 बच्चे फ़ार्मेसी में, 02 बच्चे पीएटी में एवं 01 बच्ची वेटनरी में सलेक्ट हुई है।सत्र 2021-22 में भी 10वीं एवं 12वीं स्तर के सभी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी युवोदय अकादमी जिला प्रशासन बस्तर  द्वारा करवाया जा रहा है।युवोदय अकादमी,जिला प्रशासन बस्तर यह प्रदेश का पहला नवाचार है।