breaking news New

पीडब्ल्यूडी द्वारा भ्रामक जानकारी,बेरोजगारों ने की कलेक्टर से शिकायत

पीडब्ल्यूडी द्वारा भ्रामक जानकारी,बेरोजगारों ने की कलेक्टर से शिकायत

भानुप्रतापपुर, 24 जून। ई श्रेणी पंजीकृत शिक्षित  बेरोजगारों को निविदा फार्म भरने की भ्रामक जानकारी कार्यपालन अभियंता लोक निर्माण विभाग भानूप्रतापपुर द्वारा दी जाने की बात सामने आ रही है, जिसे लेकर कलेक्टर कांकेर को शिकायत करते हुए कार्यवाही की मांग की गई है।

विदित हो कि  छत्तीसगढ़ शिक्षित बेरोजगारों को काम देने के उद्देश्य से छत्तीसगढ़ सरकार  लोक निर्माण विभाग द्वारा ई श्रेणी के अंतर्गत पंजीयन करके काम देने की योजना बनाई गई है। जिसके अंतर्गत कार्यपालन अभियंता लोक निर्माण विभाग संभाग भानूप्रतापपुर द्वारा निकाली गई निविदा दिनांक 03 .06. 2021 निविदा क्रमांक 1929/NIT-1/2020-2021 में कार्यालय कार्यपालन अभियंता लोक निर्माण विभाग भानूप्रतापपुर के लिपिकों द्वारा भ्रामक जानकारी दी गई।

बेरोजगार रोहित कुमार केमरो, सुंदरलाल दुग्गा मधुलता चक्रधारी, संगीता चक्रधारी, छबीला चक्रधारी पूनम चक्रधारी,   दुर्गेश्वरी चक्रधारी शतरूपा कड़ियाम, सविता कडियाम,हिमांशु नेताम ने बताया कि 1. फार्म लेते समय ई श्रेणी के पंजीकृत बेरोजगारों के द्वारा फार्म देने वाले लिपिक को एक बेरोजगार को कितना काम  और कितने लाख का दिया जा सकता है पूछने पर उनके द्वारा बताया गया कि प्रथम लिफाफा में काम मिलने वाले का दूसरा लिफाफा नहीं खोला जाएगा, एक बार में एक ही काम दिया जाएगा ,कहा गया ।

2. पंजीकृत ई श्रेणी के नियम में भी यदि किसी को एक काम मिला है और जब तक 60./. काम नहीं होता और स्टेटमेंट ए ,स्टेटमेंट बी, फार्म में उसकी जानकारी  नहीं दी जाती तब तक उनका दूसरा फार्म नहीं खोला जाना है। लेकिन किस नियम के तहत जिसको एक काम मिला है और उसका 60./. काम पूरा नहीं हुआ है और दूसरा लिफाफा खोला गया समझ से परे है।

3. एक पंजीकृत ई श्रेणी के एक बेरोजगार को 20 लाख के कई काम दिए जा सकते हैं ऐसा कह के लिफाफा खोला गया जिसमें 19 पंजीकृत ई श्रेणी के बेरोजगारों में मात्र 6 लोगों को ही काम दिया गया।

 एक काम मिलने के बाद दूसरा काम करने के लिए 60% कार्य पूरा कर स्टेटमेंट ए स्टेटमेंट बी फार्म नहीं भरा गया।गर्मी से छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा जिस उद्देश्य से बेरोजगारों को काम देने की योजना बनाई गई है वह पूरी तरह से फेल नजर आ रहे हैं।   इस प्रकार से कार्यपालन अभियंता लोक निर्माण विभाग भानूप्रतापपुर द्वारा गुमराह करके बेरोजगारों के साथ धोखा किया गया है कृपया निविदा रद कर बेरोजगारों के साथ न्याय किया जाए अन्यथा पंजीकृत श्रेणी के बेरोजगार आंदोलन करने बाध्य हो जाएंगे।