breaking news New

कतिपय कर्मचारी नेताओं ने फैलाया था वेतनवृद्धि स्वीकृत नहीं होने का अफवाह - कमल वर्मा

कतिपय कर्मचारी नेताओं ने फैलाया था वेतनवृद्धि स्वीकृत नहीं होने का अफवाह - कमल वर्मा

1 जुलाई 2020 की वेतनवृद्धि 1 जनवरी 2021 से एवं 1 जनवरी 2021 की वेतनवृद्धि 1 जुलाई 2021 से देय होगी


रायपुर/राजनांदगांव, 11 जनवरी। शासकीय सेवकों की वार्षिक वेतन वृद्धि स्वीकृति के अटके मामले का निराकरण छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन के साथ मुख्यमंत्री निवास में 2 जुलाई 20 को हो गया था और सरकार के द्वारा विलंबित किये गये वेतन वृद्धि को 1 जुलाई को ही स्वीकृत करने एवं 6 माह का एरियर्स एकमुश्त देय होने का आदेश 3 जुलाई 2020 को ही वित्त विभाग ने जारी कर दिया था लेकिन कतिपय कर्मचारी नेता शासकीय सेवकों को वेतनवृद्धि स्वीकृत नहीं होने के संबंध में कूटरचित तरीकों से भ्रमजाल फैलाते रहे हैं। 

छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन के प्रांतीय संयोजक कमल वर्मा, महामंत्री आर के रिछारिया, कोषाध्यक्ष सतीश मिश्रा, सचिव राजेश चटर्जी, प्रवक्ता विजय झा, बी पी शर्मा, राजनांदगाॅव जिला संयोजक डाॅ.के.एल.टाण्डेकर एवं महासचिव सतीश ब्यौहरे ने बताया कि छत्तीसगढ़ शासन ने कोरोना संकट के मद्देनजर प्रदेश के कर्मचारियों को जुलाई 2020 को देय वार्षिक वेतन वृध्दि स्वीकृति पर रोक लगा दिया था। प्रदेश भर के कर्मचारियों में शासन के इस निर्णय को लेकर असंतोष एवं आक्रोश व्याप्त था। उन्होंने बताया कि छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन ने शासन के इस निर्णय को वापस लेने मुख्यमंत्री के समक्ष मांग रखी। मुख्यमंत्री ने प्रमुख सचिव वित्त को फेडरेशन के साथ बैठक कर हल निकालने निर्देश दिया था। 

2 जुलाई के सुबह फेडरेशन का प्रतिनिधिमंडल प्रमुख सचिव वित्त से मिलकर फार्मूला सुझाया तथा देर शाम मुख्यमंत्री के समक्ष फॉर्मूले को अंतिम रूप दिया गया था। छत्तीसगढ़ सरकार और छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन के मध्य हुए समझौते के अनुसार 1 जुलाई को ही वेतन वृध्दि स्वीकृति तथा जुलाई 20 से दिसंबर 20 तक बढे हुए वेतन का 6 माह के एरियर्स  भुगतान जनवरी 2021 में करने का निर्णय लिया गया। शासन द्वारा इस संबंध में 3 जुलाई को आदेश भी जारी किया गया था। उन्होंने बताया कि वेतन वृध्दि स्वीकृत नहीं होने संबंधी एक प्रमुख अखबार में तथाकथित प्रकाशित समाचार से मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया । मुख्यमंत्री ने इसे गंभीरता से लेते हुए राजिम प्रवास के दौरान मीडिया के सामने स्थिति स्पष्ट करते हुए वेतनवृद्धि स्वीकृति एवं तत्सम्बन्धी एरियर्स का भुगतान करने संबंधी 3 जुलाई 2020 को जारी हुआ आदेश, यथावत रहने की बात कही। मुख्यमंत्री के बयान से गलतफहमी दूर हो गयी है। राज्य शासन के वित्त विभाग द्वारा यह स्पष्ट किया गया है कि राज्य शासन द्वारा शासकीय कर्मचारियों की वार्षिक वेतन वृद्धि नही रोकी गई है, तथा इसका भुगतान जनवरी माह से किया जाना प्रारंभ हो गया है। इसी प्रकार 1 जनवरी 2021 को देय वार्षिक वेतन वृद्धि जनवरी 2021 में स्वीकृत करते हुए भुगतान जुलाई 2021 के नियमित वेतन से किया जाएगा तथा 1 जनवरी 2021 से 30 जून 2021 तक की देय एरियर्स राशि का भुगतान जुलाई 2021 में किया जाएगा। गौरतलब है कि राज्य में अधिकांश कर्मचारी अधिकारी को वार्षिक वेतन वृद्धि 1 जुलाई को स्वीकृत होती है लेकिन कुछ शासकीय सेवकों को 1 जनवरी को भी स्वीकृत होती है। उल्लेखनीय है कि वार्षिक वेतन वृद्धि स्वीकृति पश्चात 1 जुलाई से 31 दिसंबर 2020 तक एरियर्स का भुगतान माह जनवरी 21 में तथा यदि 1 जनवरी 2021 का वेतनवृद्धि स्वीकृत हो तो एरियर्स सहित जुलाई 2021 में भुगतान करने का आदेश यथावत प्रभावशील है।

 शासन के इस आदेश पर छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन जिला ईकाई राजनांदगाॅव के संरक्षक अशोक माहेश्वरी, सह संयोजक रफीक खान, कोषाध्यक्ष बी.एस.मंडावी, वरिष्ठ उपाध्यक्षगण मुकुल साव, रामनारायण सिंह बघेल, सी.एल.चंद्रवंशी, रविकांत यादव, संतोष चैहान, डाॅ.बी.पी.चन्द्राकर, भीषम ठाकुर, महामंत्रीगण अरूण देवांगन, संजय तिवारी, विनोद मिश्रा, पी.आर.झाड़े, राघवेन्द्र सिंह, प्रवक्ता आर.एस.क्षत्री, संगठन सचिव हरीश भाटिया, विनोद यादव, उत्तम फंदियाल, पी.एल.साहू, शिव देवांगन, मिलिन्द तायवाड़े, सुश्री गीता जुरेशिया, बृजभान कुमार सिन्हा, सहसचिव उपेन्द्र रामटेके, हरीश चंद यादव, सुदेश यादव, मीडिया प्रभारी एवं कार्यालय सचिव दुर्गेश त्रिवेदी सहित संस्कारधानी के समस्त शासकीय सेवको ने हर्ष व्यक्त किया है ।