breaking news New

टीका लगने से बच्चे की मौत, छह बच्चे सुरक्षित, जिला अस्पताल टीम पर गंभीर आरोप, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण दूध

टीका लगने से बच्चे की मौत, छह बच्चे सुरक्षित, जिला अस्पताल टीम पर गंभीर आरोप, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण दूध

सूरजपुर. यहां एक परिवार ने अपने बच्चे की मौत का कारण लापरवाही से टीका लगाना बताया है. आरोप है कि डाॅक्टरों ने एक ही शीशी से छह बच्चों को टीका लगाया जिसमें से एक की मौत हो गई.

दूसरी ओर पोस्टमार्टम रिपोर्ट में इसकी वजह गले में दूध का फंसना बताया गया है जोकि बेहद आश्चर्यजनक लग रहा है. दरअसल विगत 7 तारीख को जिला मुख्यालय से लगे रुनियाडीह के अनिता टेकराम के दो माह के बच्चे की मौत हो गई। परिजनों का कहना है कि बच्चे को 5 तारीख को टीका लगाया था, जिसके बाद उसकी मौत हो गई। परिजनों ने मौत की वजह बच्चे को लगे टिका को बताया था। इस मामले में प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि एक ही दिन एक ही शीशी से इसी गांव में 7 बच्चों को टीका लगाया गया था, उनकी ही जांच के लिए गांव पहुंचे थे।

जांच में सामने आया है कि बाकी बच्चे स्वस्थ हैं। वहीं ब्डभ्व् का कहना है कि बच्चे की मौत टीका लगने से नहीं हुई है, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सामने आया है कि बच्चे की सांस नली में दूध का कुछ हिस्सा मिला है और उसी के कारण बच्चे की मौत हुई है। परिजनों का आरोप है कि बच्चे की मौत टीका लगने से हुई है। बच्चे की मौत की खबर मिलने के बाद आज जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की टीम जांच के लिए रुनियाडीह गांव पहुंची, जिसमें जिला पंचायत सीइओ भी शामिल थे।