breaking news New

शहरी क्षेत्र में 18 प्लस के एपीएल के वैक्सीन खत्म, ग्रामीण क्षेत्रों में वैक्सीनेशन जारी

 शहरी क्षेत्र में 18 प्लस के एपीएल के वैक्सीन खत्म, ग्रामीण क्षेत्रों में वैक्सीनेशन जारी

कोरबा । सीमित मात्रा में भेजी गई को- वैक्सीन की खेप आखिर कितने दिन चलती। नतीजा ये हुआ कि जल्द ही वैक्सीनेशन सेंटर में आई भीड़ के साथ डोज समाप्त हो गए। नतीजन शहरी क्षेत्र में खासतौर पर 18 प्लस के एपीएल के लिए वैक्सीनेशन फिलहाल ब्रेक हो गया है। जबकि बीपीएल और अंत्योदय श्रेणी को लाभ दिया जाना जारी है। उधर ग्रामीण क्षेत्रों में सीमित संख्या में उपलब्धता के आधार पर वैक्सीनेशन किया जा रहा है। दोनों ही मामलों में अब वैक्सीन की नई खेप आने की प्रतीक्षा की जा रही है।
जानकारी के अनुसार कोरबा शहरी क्षेत्र में आज से 18 प्लस के मामले में को.वैक्सीन समाप्त होने के कारण टीकाकरण को ब्रेक दिया गया है। यह व्यवस्था तब तक बनी रहेगी, जब तक कि वैक्सीन की अगली खेप यहां राज्य की ओर से भेज नहीं दी जाती। बताया गया कि एपीएल केटेगरी में वैक्सीन को लेकर समस्या है। लाभान्वितों की संख्या ज्यादा होने और इसके मुकाबले वैक्सीन की संख्या कम होने के चक्कर में यह समस्या पेश आई। जबकि अंत्योदय और बीपीएल की संख्यात्मक आधार पर वैक्सीन उपलब्ध होने से काम को कुछ केंद्रों में जारी रखा गया है। बताया गया कि शहरी क्षेत्र में सीमित स्थान पर ही वैक्सीनेशन की सुविधा दी गई है। हाईकोर्ट के आदेश के बाद एक तिहाई के अनुपात में तीनों श्रेणियों को टीके लगाए जाने का काम प्रारंभ किया गया। इसी के साथ चौतरफा भीड़ का दबाव तेज हो गया। एप्रोच से लेकर हंगामा जैसे हालात बने। निर्धारित समय तक हुए टीकाकरण के साथ उपलब्ध कराई गई वैक्सीन समाप्त हो गई। ऐसे में शहरी क्षेत्र के सामने टीकाकरण को लेकर दिक्कतें हैं। बुधवार को केंद्रों में जब लोग टीका लगवाने पहुंचे तो उन्हें वहां से वैक्सीन खत्म होने की जानकारी देने के साथ चलता कर दिया गया। जबकि ग्रामीण क्षेत्रों में स्थिति कुछ अलग है। वहां के मामले में ब्लॉक स्तर पर 18 प्लस को टीकाकृत करने के लिए व्यवस्था बनाई गई है। इसके अंतर्गत लोगों को मौके पर पहुंचना है। टीकाकरण का अनुपात यहां भी शहर जैसा है। इस दृष्टिकोण से वैक्सीन की उपलब्धता और लाभान्वितों के आंकड़ेे शहर की तुलना में कुछ भिन्न है। इस नाते यहां पर समस्याएं कुछ कम है। अब तक की जानकारी में ग्रामीण क्षेत्रों में सभी श्रेणियों के लिए वैक्सीनेशन जारी है।
जितनी वैक्सीन 18 प्लस के लिए शहरी क्षेत्र को दी गई थी। उसका उपयोग किया गया। एपीएल केटेगरी से संबंधित वैक्सीन नहीं है। दूसरी श्रेणियों में भी स्थिति कमोबेश ऐसी ही है। इसलिए वैक्सीनेशन को फिलहाल ब्रेक दिया गया है। राज्य को वैक्सीन प्राप्त होने और वहां से जिले को आपूर्ति किये जाने के बाद वैक्सीनेशन शुरू किया जाएगा, वैक्सीन 2-3 दिन में पहुंच सकेंगी, इसकी उम्मीद है।