breaking news New

भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा ने राज्यपाल के नाम सौंपा ज्ञापन

भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा ने  राज्यपाल के नाम सौंपा ज्ञापन


जनकपुर,(कोरिया) - कोरिया जिला के भरतपुर तहसील में आज दिनांक 13 सितंबर 2021 को भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा ने जय स्तंभ चौक के पास किया एक दिवसीय धरना प्रदर्शन। जहां संसदीय सचिव चंपा देवी पावले,भाजपा जिला उपाध्यक्ष दुर्गाशंकर मिश्रा,जिला पंचायत सदस्य केल्हारी दृगपाल सिंह वा अन्य भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा के सदस्यों ने दूरदराज से आए हुए किसानों के हित की बात मंच के माध्यम से कहीं और किसानों का संबोधन भी किया। जिसके बाद सभी भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा जनकपुर  ने आज अनुविभागीय अधिकारी/तहसीलदार भरतपुर के माध्यम से राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा जिसमे किसानहित को ध्यान में रखते हुए निम्न मांगो पर राज्य सरकार को निर्देशित करने की बात कही।

भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा, छत्तीसगढ़ प्रदेश सदैव किसानों के हित के लिए काम करती है। भाजपा किसान मोर्चा का उद्देश्य "समृद्ध राष्ट्र, खुशहाल किसान" बनाना है। महोदया विगत ढाई वर्षों से राज्य सरकार के अकर्मण्यता के कारण प्रदेश के किसानों को बिजली से लेकर खाद-बीज तक की व धान खरीदी के समय बारदाना के विकट परिस्थितियों से जूझना पड़ता है।सरप्लस बिजली वाले राज्य छत्तीसगढ़ में लगातार अघोषित बिजली कटौती चल रही है और राज्य सरकार ने अब तो बिजली की दर में भी बढ़ोतरी कर दी है। यह बढ़ोतरी दुःखद और चिंताजनक है।किसान हित को ध्यान में रखते हुए उक्त 6 बिंदुओं की मांग को पूर्ण करने के लिए राज्य सरकार को निर्देशित करें।

प्रदेश के अल्प बारिश वाले विकासखंडों को जल्द सूखाग्रस्त घोषित करें।कांग्रेस सरकार अपने घोषणा पत्र अनुरूप किसानों को उनके 2 साल का बकाया बोनस प्रदाय करे।अघोषित बिजली कटौती पूर्णता बंद हो और बढ़ी हुई बिजली दर को कम किया जाए।स्थायी पम्प कनेक्शन हेतु किसानों को तत्काल अनुमति प्रदान करे।

सोसाइटीयों में खाद की नियमित आवक बनी रहे, व खाद की कालाबाजारी पर अंकुश लगे।1 नवम्बर से धान खरीदी प्रारंभ करें व बारदाने की उचित व्यवस्था खरीदी के पूर्व सुनिश्चित करें।

इस एक दिवसीय धरना प्रदर्शन में संसदीय सचिव चंपा देवी पावले,भाजपा जिला उपाध्यक्ष दुर्गाशंकर मिश्रा,जिला पंचायत सदस्य केल्हारी दृगपाल सिंह, अशोक सिंह, पवन शुक्ला, कुलदीप तिवारी वा सैकड़ों की संख्या में किसान और भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा के सदस्य उपस्थित रहे।