breaking news New

दांत उखाड़ने के दो दिन बाद मरीज की मौत, डॉक्टर पर गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज, डॉक्टर पर गलत इलाज करने का आरोप

दांत उखाड़ने के दो दिन बाद मरीज की मौत, डॉक्टर पर गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज, डॉक्टर पर गलत इलाज करने का आरोप

बलिया. जिले के नगरा थाना पुलिस ने एक महिला का दांत उखाड़ने के बाद मौत के मामले में एक प्राइवेट अस्पताल के डॉक्टर के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज किया है. नगरा थाना प्रभारी विवेक पांडेय ने बताया कि पकड़ी थाना क्षेत्र के एकईल ग्राम के राजेश वर्मा की शिकायत पर कस्बे के एक प्राइवेट अस्पताल के डॉक्टर के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की संबंधित धारा के तहत गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज किया गया है.

उन्होंने बताया कि राजेश वर्मा ने शिकायत की है कि उनकी 38 वर्षीय पत्नी सीमा 17 दिसंबर को दांत का इलाज कराने के लिए अस्पताल गई थी. डॉक्टर ने दांत उखाड़ने के बाद दवा देकर घर भेज दिया. वर्मा का कहना है कि घर पहुंचने के कुछ देर बाद सीमा की तबीयत खराब हो गई. इसके बाद उसे लेकर दोबारा उसी अस्पताल गए. डॉक्टर ने तीन इंजेक्शन लगाने के बाद फिर घर भेज दिया.

वर्मा ने कहा कि इसके बाद भी उनकी पत्नी की तबियत में कोई सुधार नहीं आया, जिसके बाद वह पत्नी को लेकर फिर उसी क्लीनिक में गए, जहां डॉक्टर ने इलाज से मना कर दिया और उन्हें मऊ जाकर दिखाने की सलाह दी. वर्मा ने कहा कि जब वह पत्नी को लेकर मऊ पहुंचे, तो वहां के डॉक्टर ने गंभीर हालत को देखते हुए इलाज करने से मना कर दिया.

इसके बाद वह फिर अपनी पत्नी को लेकर एक अन्य प्राइवेट हॉस्पिटल गए, लेकिन वहां भी डॉक्टर ने पीड़िता की हालत गंभीर देखते हुए जिम्मेदारी लेने से मना कर दिया. उन्होंने कहा कि जब वह अपनी पत्नी को लेकर घर वापस लौट रहे थे, तभी रास्ते में ही उनकी पत्नी ने दम तोड़ दिया. वर्मा ने क्लीनिक डॉक्टर पर यह आरोप लगाया है कि उसी के गलत इलाज के चलते उनकी पत्नी की मौत हुई है. विवेक पांडेय ने बताया कि पुलिस मामले की छानबीन कर रही है.