जर्जर भवन में विराजमान है रांकाडीह के माँ रणचण्डी ,पूर्ण करती है सबकी मनोकामना

जर्जर भवन में विराजमान है रांकाडीह के माँ रणचण्डी ,पूर्ण करती है सबकी मनोकामना

किशनलाल विश्व करमा

मगरलोड।ब्लॉक मुख्यालय से महज 10 किलोमीटर दूर ग्राम रांकाडीह में बांधा तालाब के पास माता रणचण्डी एंव माता दंतेश्वरी का मंदिर है। जँहा माता रानी मन्दिर में सूक्ष्म रूप से विराज मान है।बता दे की यँहा जो भी भक्त अपने  मनोकामना को लेकर माता रानी के द्वार में जो भी भक्त जाता है,उसकी भक्ति अनुसार सभी मुरादे पूर्ण होती है।ज्ञात हो की यह मंदिर पूरा 12माह खुला रहता है।मन्दिर में माता रानी का दरबार हर सोमवार और गुरुवार को लगता है।मान्यता है की इस मंदिर में जो भक्त संतान प्राप्ति के उद्देश्य आता है ,उसकी मनोकामना साल भर के अंदर पुर्ण हो जाती है ।सिर्फ भक्तो को माता रणचण्डी के मंदिर में मात्र एक श्रद्धा से ज्योति जलाना होता है।