breaking news New

गुड गवर्नेंस इनिशिएटिव मॉडल पर आगामी 20 दिसंबर से होगा ग्राम पंचायतों का प्रशिक्षण

गुड गवर्नेंस इनिशिएटिव मॉडल पर आगामी 20 दिसंबर से होगा ग्राम पंचायतों का प्रशिक्षण

20 दिसंबर से 5 जनवरी तक प्रशिक्षण आयोजित करने के लिए दिशा-निर्देश जारी

बैकुण्ठपुर। महात्मा गांधी नरेगा के अंतर्गत सभी ग्राम पंचायतों में गुड गवर्नेंस इनिशिएटिव मॉडल लागू करने के लिए आगामी 20 दिसंबर से प्रशिक्षण आयोजित किए जाएंगे। सभी जनपद पंचायतों में होने वाले इस प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन आगामी 5 जनवरी तक पूर्ण कर लिया जाएगा। इस संबंध में जिला पंचायत कार्यालय से विस्तृत दिशा-निर्देश जारी कर दिए गए हैं।

उक्त प्रशिक्षण के संबंध में विस्तार से जानकारी देते हुए जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री कुणाल दुदावत ने बताया कि राज्य कार्यालय द्वारा गुड गवर्नेंस इनिशिएटिव मॉडल के अंतर्गत ग्राम पंचायतों के तीसरे चरण का समयबद्ध प्रशिक्षण आयोजित कराने के निर्देश प्राप्त हुए हैं उसी तारतम्य में यह प्रशिक्षण सभी जनपद पंचायतों में अलग-अलग तिथियों में आयोजित किए जाएंगे। इसके पूर्व प्रत्येक जनपद पंचायतों के तीन तीन ग्राम पंचायतों में यह लागू किया गया था।

इसके तहत प्रत्येक पंचायत में नियमानुसार प्रत्येक मनरेगा कार्य स्थल पर नागरिक सूचना पटल की उपलब्धता, महात्मा गांधी नरेगा के तहत सभी पात्र हितग्राहियों के जाब कार्ड का अद्यतनीकरण और प्रत्येक ग्राम पंचायत कार्यालय में नरेगा की सात पंजियों तथा सभी कार्य के दस्तावेजों का संधारण मुख्य विषय होंगे।

इस प्रशिक्षण के तहत सबसे पहले रिसोर्स ग्राम पंचायतों का चिंहाकन करते हुए यहां पदस्थ ग्राम रोजगार सहायक और पंचायत के ग्राम सचिव को ट्रेनर बनाया जाएगा। इसके साथ ही ग्राम पंचायतों के क्लस्टर बनाकर वहां के ग्राम सचिव और रोजगार सहायकों को इन विषयों पर विस्तार से प्रशिक्षण दिया जाएगा।  

      जिला पंचायत सीइओ ने बताया कि उक्त प्रशिक्षण दो दिवस का होगा जिससे संबंधित प्रशिक्षणार्थियों को सभी बिंदुओं पर विस्तार से प्रशिक्षण दिया जा सके। इस प्रशिक्षण के दूसरे चरण के बाद आने वाले जनवरी माह से सभी ग्राम पंचायतों में गुड गवर्नेंस इनिशिएटिव मॉडल के अंतर्गत ग्राम पंचायतों को अपने रिकार्ड अद्यतन रखना होगा।

प्रशिक्षण हेतु जिला पंचायत से जारी निर्देश के संबंध में उन्होंने बताया कि जनपद पंचायतों में कार्यक्रम अधिकारी और पूर्व से प्रशिक्षित हो चुके तीन ग्राम पंचायतों के तकनीकी सहायक प्रशिक्षण प्रदान करेंगे। प्रशिक्षण के सभी चरणों के दस्तावेजीकरण करने तथा ऑनलाइन एंट्री करने के लिए भी निर्देश जारी किए गए हैं।

प्रशिक्षण के उपरांत आने वाले जनवरी माह से सभी ग्राम पंचायतों में गुड गवर्नेंस इनिशिएटिव मॉडल के अंतर्गत ग्राम पंचायतों द्वारा नागरिक सूचना पटलों का अद्यतनीकरण, सात पंजियों का संधारण, सभी निर्माण कार्यों की पृथक-पृथक फाइल संधारण और सभी पात्र हितग्राहियों के जॉब कार्ड के अद्यतनीकरण का कार्य कराया जाएगा। कार्यालय जिला पंचायत द्वारा सभी जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को राज्य के निर्देशानुसार गुड गवर्नेंस इनिशिएटिव मॉडल के अंतर्गत ग्राम पंचायतों के प्रशिक्षण समय-सीमा में पूर्ण कराने और उसके पश्चात पालन प्रतिवेदन भेजने के निर्देश दिए गए हैं।