breaking news New

रौशन हुई खानकाह, उर्स में जुटे अकीदतमंद : खानकाह असदिया मुरादिया में तीन दिवसीय उर्स पाक का समापन आज

रौशन हुई खानकाह, उर्स में जुटे अकीदतमंद : खानकाह असदिया मुरादिया में तीन दिवसीय उर्स पाक का समापन आज

भिलाई। सूफी संत बाबा भोला शफी शाह रहमतुल्लाह अलैहि का तीन दिनी उर्स मुबारक मुराद नगर ग्राम बीरेभाठ नंदिनी एयरपोर्ट के पास खानकाह भोलाइया में 21 से 23 दिसंबर तक पूरी शान व शौकत के साथ मनाया जा रहा है। कोविड संक्रमण को देखते हुए सभी जायरीनों से नियमों का पालन करने व समान दूरी बरतने के सख्त निर्देश दिए गए हैं।

इंतेजामिया कमेटी की हिदायत को देखते हुए यहां पहुंचने वाले सभी मेहमान कोविड से जुड़े दिशा-निर्देशों का पालन कर रहे हैं। उर्स को देखते हुए खानकाह को फूलों से खास तौर पर सजाया गया है। वहीं आकर्षक झालरों की रोशनी की गई है।

खानकाह में 21 दिसंबर को शाम 4 बजे रस्मे अलम शरीफ अदा की गई। जिसमें सज्जादा नशीन कायम शाह खानकाह में परचम फहरा कर उर्स की औपचारिक शुरूआत की। इसके बाद रात 8 बजे से महफिले मिलाद शरीफ हुई। जिसमें दुआए खैर की गई और नातिया कलाम पेश किए गए। मंगलवार को शाम 4 बजे रस्मे गागर शरीफ अदा की गई। जिसमें अकीदतमंदों ने गागर में पानी लाकर पेश किया।

इसके बाद गुलपोशी की रस्म अदायगी हुई और आम लंगर व महफिले समा में कव्वाली पेशकश की गई। जमशेदपुर के सूफी  कव्वाल  मंजूर  आलम  साबरी  और  उनके  साथियों  ने  एक  से  बढ़  कर  एक  सूफियाना कलाम पेश किए। इसके साथ ही उलेमाए किराम की तकरीर हुई। 23 दिसंबर बुधवार को सुबह 9 बजे से रस्मे कुल गद्दी शरीफ व फातिहा ख्वानी होगी। इसके साथ ही उर्स का समापन होगा।