शराब भट्ठी के बंद होने से शराबियों का कदम अब जंगलों की तरफ

शराब भट्ठी के बंद होने से शराबियों का कदम अब जंगलों की तरफ

मगरलोड, 27 मार्च। शराब भट्ठी के बंद होने से शराबी अब जंगलो के तरफ जाने को मजबूर नजर आ रहा है।पूरा मामला मगरलोड थाना क्षेत्र की है। एक तरफ माहमारी कोरोना वायरस पूरा दुनिया को झझोड़ कर रख दिया है जिससे लड़ने के लिए भारत सरकार द्वारा  धारा144 लागू कर सभी जगहों पर भीड़ को हटा कर हर सम्भव प्रयास कर रही है।पूरे देश को लॉक डाउन कर कोरोना को हराने में लगा है। तो दूसरी तरफ शराबी देश के बारे में सोचना तो दूर की बात है। अपने आप के बारे में भी सोच नहीं पा रहा है और खुद को मौत के खाई में गिराने को जा रहे है।

शराबी अपने जान को जोखिम में डालकर बेखौफ घर से निकल रहे है।शराब भट्ठियों के बंद होने से, शराबियों के पैरों तले धरती खिसकने के जैसा स्थिति हो गया है।सूत्रों से जानकारी मिला है ,की शाम होते ही आदतन शराबी अब शराब भट्ठियों में ना जाकर ।शराबियों का पैर अब जंगल झाड़ियों वाले डेरा व गाँवों के तरफ कच्ची शराब लेने के बहाने जाने लिए जाने को मजबूर हो गया। कई जगह भठ्ठियों में मिलने वाली शराब को कुछ लोग जमाखोरी कर रखे हुए थे। लेकिन अब उस शराब को धीरे-धीरे बेचने की जानकारी मिल रही है।खबर की नजारा ब्लॉक मुख्यालय के समीप के गाँव मंडेली,बकोरी,राजाडेरा,बेलोरा डेरा,कोरगाँव ,परसाबुड़ा कमार पारां में देखने को मिलता है।