breaking news New

भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत पर हुए हमले का छत्तीसगढ़ किसान महासंघ ने की निंदा

भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत पर हुए हमले का छत्तीसगढ़ किसान महासंघ ने की निंदा

रायपुर, 3 अप्रैल। भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत पर हुए हमले का छत्तीसगढ़ किसान महासंघ ने निंदा किया है. कृषि कानून के विरोध में आज अलवर के हरसोली और बानसूर में किसान रैली आयोजित हुई. इस दौरान हरसोली से बानसूर जाते समय किसान नेता राकेश टिकैत के काफिले पर सैकड़ों लोगों ने हमला कर दिया. हमले को लेकर देश भर से प्रतिक्रिया आ रही है इसी कड़ी में छत्तीसगढ़ किसान संगठन से जुड़े लोगों ने इस घटना की निंदा की है। डॉक्टर त्रिपाठी ने कहा कि इससे पूर्व सरकार के द्वारा हमारे साथी  चौधरीयुद्धवीर सिंह की प्रेस वार्ता के दरमियान गिरफ्तारी करने की हिमाकत की गई थी और अब हमारे साथी राकेश टिकैत पर हमला करने की कोशिश की गई है। किसान ने गिरफ्तारी से डरता है ना इन हमलों से भयभीत होगा बल्कि सरकार की इन हरकतों से किसान आंदोलन और मजबूत होगा तथा हमारा निश्चय दिनों दिन और रीढ़ होगा।

. देश के 40 से अधिक किसान संगठनों के देश के सबसे बड़े किसान संगठन अखिल भारतीय किसान महासंघ  (आइफा) के संयोजक डॉ राजाराम त्रिपाठी ने बीजेपी पर निशाना साधा है. उन्होंने इसे आड़े हाथों लेते हुए कहा कि टिकैत पर हमला करने वाले भाजपा के करीबी बताए जा रहे हैं. लोकतंत्र में हिंसा के लिए कोई जगह नहीं है. इस तरह की घटना का होना चिंता का विषय है. इस दौरान राजाराम त्रिपाठी ने सरकार से मांग की है कि सरकार किसान नेताओं को सुरक्षा मुहैया कराए. 

अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग:- छत्तीसगढ़ किसान महासंघ के संयोजक डॉ राजाराम त्रिपाठी ने मामले के दोषी लोगों कि जल्द से जल्द गिरफ्तारी और सख्त से सख्त कार्रवाई की मांग की है. उन्होंने सरकार से इस तरह की घटना पुनरावृति से बचने की राय दी है।