breaking news New

थोक में पॉजिटिव, बनेगा कंटेनमेंट जोन?

थोक में पॉजिटिव, बनेगा कंटेनमेंट जोन?

भाटापारा, 5 अप्रैल। बड़ा सवाल, क्या कंटेंनमेंट जोन बनाया जाएगा? थोक में 12 पॉजिटिव केस मिलने के बाद यह यक्ष प्रश्न इसलिए उठ रहा है क्योंकि प्रभावित क्षेत्र में वैक्सीनेशन सेंटर और कई मंदिर- देवालय हैं। बड़ी आबादी भी निवास करती है।

कोविड टेस्ट को लेकर थोड़ा हील-हवाला। कड़े तेवर देख, बचने का दूसरा रास्ता- हमने एयरपोर्ट पर करवा लिया है टेस्ट, पर दाल नहीं गली। आखिरकार टेस्ट करवाना ही पड़ा। 12 पॉजिटिव मरीज मिले। शेष की रिपोर्ट आना बाकी है। इस बीच प्रभावित क्षेत्र के साथ पूरे शहर में अब यह सवाल उठ रहा है कि क्या कंटेनमेंट जोन बनाया जाएगा? अब यह फैसला प्रशासन को करना है, जिसकी रहस्यमयी चुप्पी ने धड़कनें बढ़ा दी हैं।

इसलिए सवाल

कंटेनमेंट जोन का सवाल इसलिए उठ रहा है क्योंकि बड़ी आबादी पर संक्रमण का अंदेशा है। इसके अलावा संक्रमितों का कारोबार, ज्यादा संपर्क वाला है। ऐसे में खतरा और अधिक क्षेत्र में अपने पैर पसार सकता है। अब यह फैसला प्रशासन को लेना है कि कंटेनमेंट जोन बनाया जाना सही होगा या नहीं?

इंतजार शेष की रिपोर्ट का

टूर पर गोवा गए, दाल और पोहा मिल संचालकों में से 12 की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद अब इंतजार है, शेष बचे लोगो के रिपोर्ट की। यदि पॉजिटिव केस की संख्या 12 से आगे बढ़ी तो शहर के लिए निश्चित ही खतरे का संकेत मानी जाएगी क्योंकि बाहर से लौटने वालों की बड़ी संख्या ने अभी भी, टेस्ट से दूरी बनाई हुई है।

वैक्सीनेशन सेंटर और मंदिर

संक्रमित मरीजों के क्षेत्र में कई मंदिर- देवालय और कोरोना वैक्सीनेशन सेंटर भी है। यहां हर रोज बड़ी संख्या में आवाजाही बनी हुई है। ताजा प्रतिकूल परिस्थितियों में इन दोनों जगहों में सामान्य गतिविधियां के संचालन पर संशय के बादल मंडराते नजर आने लगे हैं।