breaking news New

दक्षिण अबूझमाड़ की सैकड़ों गांव के लिए वरदान साबित होगा छिन्दनार पुल

 दक्षिण अबूझमाड़ की सैकड़ों गांव के लिए वरदान साबित होगा छिन्दनार पुल


जगदलपुर।  बस्तर क्षेत्र की जीवनदायिनी इंद्रावती नदी के ऊपर क्षेत्र की जनता के आवागमन हेतु अब तक मात्र 03 पुल का उपयोग किये जाने से दक्षिण बस्तर क्षेत्र की जनता को मानसून के दौरान इंद्रावती नदी को पार करने में काफी कठिनाईयों का सामना करना पड़ता था, इस परिस्थिति को देखते हुये शासन द्वारा विगत वर्षों में इंद्रावती नदी के ऊपर जिला दन्तेवाड़ा-बीजापुर अंतर्गत कुल 04 पुल क्रमशः छिन्दनार, बड़ेकरका, फण्डरी एवं बेदरे में निर्माण करने का स्वीकृति प्रदान किया गया।

उपरोक्त सभी चारो पुल का निर्माण कार्य को सुरक्षा प्रदाय करने हेतु 04 सुरक्षा बेस कैम्प स्थापित किया जाकर निर्माण कार्यों को गति प्रदान की गई। विगत दिनों पुलिस महानिरीक्षक, बस्तर रेंज श्री सुंदरराज पी. एवं पुलिस अधीक्षक, दन्तेवाड़ा डॉ. अभिषेक पल्लव द्वारा ग्राम छिन्दनार का भ्रमण कर पुल निर्माण कार्य प्रगति की समीक्षा किया गया। इस दौरान ग्रामीणों द्वारा पुलिस महानिरीक्षक, बस्तर रेंज से रूबरू होते हुये पुल निर्माण से ग्रामीणों को हो रही सुविधा एवं फायदा से अवगत कराते हुए शासन-प्रशासन तथा सुरक्षाबलों के प्रति आभार व्यक्त किया गया।

उल्लेखनीय है कि छिन्दनार पुल निर्माण कार्य पूर्ण होने पर पहुनार, काऊरगांव, बड़ेकरका, छोटेकरका, चेरपाल, तुमरीगुंडा, पदमेटा, हितावर, हांदावाड़ा एवं बेड़मा सहित दक्षिण अबूझमाड़ क्षेत्र की सैकड़ो गांव लाभान्वित होने के साथ-साथ यह पुल पूर्वी बस्तर, दक्षिण बस्तर, पश्चिम बस्तर एवं अबूझमाड़ क्षेत्र की जनता के लिए सेतु के रूप में कार्य करेगा।
पुलिस महानिरीक्षक, बस्तर रेंज श्री सुंदरराज पी. द्वारा बताया गया कि बस्तर क्षेत्र के वनांचल ईलाकों में जनता की आवागमन हेतु शासन-प्रशासन द्वारा स्वीकृत पुल-पुलिया एवं सड़कों का निर्माण कार्य को सुरक्षा प्रदान किये जाने हेतु बस्तर पुलिस एवं क्षेत्र में तैनात केन्द्रीय अर्द्धसैनिक बल दृढ़ संकल्पित है।