तिहाड़ी मजदूरों का नहीं बना है राशन कार्ड, लॉक डाउन के कारण, दो जून की रोटी तक नहीं हो रही नसीब, कइयों को नहीं मिला है वृद्धा पेंशन

तिहाड़ी मजदूरों का नहीं बना है राशन कार्ड, लॉक डाउन के कारण, दो जून की रोटी तक नहीं हो रही नसीब, कइयों को नहीं मिला है वृद्धा पेंशन

सूरजपुर/ बिहारपुर, 4 अप्रैल। कोरोना वायरस के वजह से लाक डाउन होने से सबसे ज्यादा तिहाडी मजदूरों की जिन्दगी प्रभावित हो गई है। जिनके पास पेट भरने के लिये पर्याप्त राशन भी नहीं है ना ही राज्य सरकार से मिलने वाला विभिन्न वर्ग वाला राशन कार्ड बने है। राज्य की सरकार ग्रामीणों, तिहाड़ी मजदूरों को सुविधा पहुँचाने की बात कहती है किंतु सूरजपुर जिला में निर्धन, गरीब, तिहाड़ी मजदूरों को सुविधा मिलते हुए नजर नहीं आ रही है। ऐसे में ये तिहाडी मजदूरों के सामने सबसे बडी चुनौती बनी है रोजी रोटी की चिन्ता है। जिला प्रसाशन के द्वारा आम लोगों को राहत पहुँचाने के दावो के विपरीत जिला मुख्यालय के दुरस्थ क्षेत्र बिहारपुर चांदनी के ग्राम पंचायत कोल्हुआ में 61,खोहिर पंचायत 72 मजदुर, बैजनपाठ के 12 मजदुर, मोहली मे 50 मजदूर परिवार रहते है जिनके पास आय का जरीया मजदूरी है इसमें से कुछ मजदूर जिले से बाहर जाकर मजदूरी करते थे जो इन दिनों अपने गावों की ओर लौट आये है ऐसे में उनके सामने पेट भरने की चिन्ता सताने लगी है बताया जाता है कि उक्त लोगो के पास ना तो राशन कार्ड है और ना ही इन्हे शासन के किसी योजना का लाभ मिलता है।