जनधारा की खबर का बड़ा असरः निगम में घटिया मास्क सप्लाई, भाजपाईयों ने खोला मोर्चा

जनधारा की खबर का बड़ा असरः निगम में घटिया मास्क सप्लाई, भाजपाईयों ने खोला मोर्चा


सेनेटाईजर के खरीदी किये गये दर पर भी उठे सवाल

संजय जैन

धमतरी, 17 अप्रैल। कोरोना कोविड-19 से बचाव को लेकर केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा अनेक सुरक्षा के उपाय हेतु सांसद, विधायक आदि की निधियों की राशि को इस महामारी से लडऩे हेतु उपयोग में लाये जाने का निर्णय लिया है। लेकिन वहीं यह वैश्विक महामारी के नाम पर स्वार्थपूर्ति एवं एक निजी व्यक्ति को लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से पिछले दिनों मास्क एवं सेनेटाईजर खरीदी हेतु नगर निगम महापौर मद से 5 लाख रूपये की खरीदी की गई है। सबसे महत्वपूर्ण तथ्य यह है कि कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता जो पूर्व में शीर्ष पद पर पदस्थ थे, और उनका मेडिकल से दूर तक नाता नहीं है, उसके माध्यम से यह खरीदी की गई है जिसे लेकर भाजपा के नेताओं ने मोर्चा खोल दिया है और वे इसकी शिकायत राज्यपाल सहित विभिन्न वरिष्ठ अधिकारियों को करने की मंशा बना ली है। महापौर निधि से खरीदे गये मास्क और सेनेटाईजर को शहर के विभिन्न वार्ड पार्षद, मीडिया कर्मियों को भी दिया गया है। प्रतिनिधि ने शहर के कुछ पार्षदों से निगम द्वारा प्रदाय किये गये मास्क और सेनेटाईजर के बारे में पूछ जाने पर उन्होंने कहा कि जो मास्क दिया गया है वह उपयोग के लायक ही नहीं है। ऐसा लगता है कि जान बूझकर इस तरह का मास्क सप्लाई किया गया है। इनका यह भी कहना था कि एक तरफ पूरा देश कोरोना महामारी जैसे गंभीर बिमारी से लड़ाई लड़ रहा है और ऐसे समय आम जनमानस के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ा किया जाना काफी गंभीर है। इस मामले को आज की जनधारा ने प्रमुखता से प्रकाशित किया था और समाचार का असर यह रहा कि भाजपा इस पूरे मामले को लेकर मोर्चा खोल दिया है। निगम में नेता प्रतिपक्ष नरेंद्र रोहरा के नेतृत्व में आज भाजपा पार्षदों ने एक लिखित शिकायत आयुक्त को सौंपते हुए इस पूरे मामले पर जांच कर कार्यवाही की मांग की है। ज्ञापन सौंपने के दौरान श्री रोहरा के अलावा बिसनलाल निषाद, विजय मोटवानी, मिथलेश सिन्हा, धनीराम सोनकर, रितेश मेश्राम, प्राची सोनी, श्यामा साहू, ईश्वरलाल सोनकर, सरिता असाई, अंजु देशलहरे आदि थे। 

नगर निगम द्वारा बिना निविदा आमंत्रित किये मात्र 3 लोगों से कोटेशन बुलाकर कोरोना कोविड-19 से बचाव हेतु मास्क तथा सेनेटाईजर की खरीदी महापौर के मद से की गई हेै। जिस व्यक्ति ने यह सप्लाई आदेश प्राप्त किया है, वह राईस मिल का काम करता है। इसका दूर-दूर तक फार्मेसी में कहीं भी दखल नहीं है। इस खरीदी को लेकर जो वस्तुएं सप्लाई की गई है, उसमें घटिया मास्क जनचर्चा का विषय बना हुआ है। इसे लेकर जब शिकायत के आधार पर आज की जनधारा में समाचार का प्रकाश हुआ तब नेता प्रतिपक्ष नरेंद्र रोहरा ने इसका संज्ञान लेते हुए पाया कि वास्तव में जो मास्क प्रदाय किया गया है वह घटिया एवं निम्र स्तर का है। उसमें टेप चिपकाकर उसे आनन-फानन में सप्लाई कर दिया गया है जिसकी जानकारी मिलने पर श्री रोहरा ने इसकी शिकायत राज्यपाल तथा आयुक्त नगर निगम के साथ साथ प्रदेश एवं जिले के वरिष्ठ अधिकारियो ंको करने की जानकारी दी है। नेता प्रतिपक्ष ने प्रतिनिधि को आगे यह भी कहा कि आपके द्वारा यह मामला उजागर किया गया है जिसके लिये आप साधुवाद के पात्र हैं। भाजपा पार्षदों का एक हस्ताक्षरयुक्त ज्ञापन कमिश्रर को सौंपकर इसके दोषियों पर कार्यवाही की मांग की गई है। 

नेता प्रतिपक्ष श्री रोहरा ने इस सप्लाई को लेकर जांच अभियान प्रारंभ किया जिसमें उन्होंने पाया कि जो सेनेटाईजर खुले मेडिकल में वही दर पर उपलब्ध रहता है, उसका भाव थोक में भी उतना ही सप्लायर्स ने लगाया है जबकि यह व्यक्ति दूर तक मेडिकल, फार्मेसी के क्षेत्र में है ही नहीं। इस व्यक्ति को लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से ही यह सप्लाई का ठेका उसे प्रदान किया गया है। शहर के मेडिकल स्टोर्स में पता लगाने पर ज्ञात हुआ कि जो मास्क सप्लाई किया गया है, उससे अच्छी क्वालिटी के मास्क उतने ही दर पर उपलब्ध थे। लेकिन निगम के महापौर मद से खरीदे गये इस मास्क में वह क्वालिटी कहीं भी नजर नहीं आती जो आम मेडिकल स्टोर्स में उपलब्ध हैं। इस प्रकार महापौर मद से की गई खरीदी में संभवत: भ्रष्टाचार की बू आती है। इस प्रकार शासन एवं जनता के पैसे का दुरूपयोग करने का संबंधितों को कोई अधिकार नहीं है। जिस व्यक्ति को यह सप्लाई आदेश दिया गया है, पहले तो वही गलत है। उससे अच्छे दर्जे के सेनेटाईजर और मास्क की उपलब्धता शहर के विभिन्न मेडिकल स्टोर्स से की जा सकती थी। तुर्रा यह कि मात्र तीन कोटेशन बुलाकर एक कांग्रेसी नेता को इस सप्लाई आदेश देकर लाभान्वित किया जाना मूल उद्देश्य है। जिसके लिये भाजपा जांच की मांग लगातार करते हुए दोषियों पर कार्यवाही की मांग करेगी। यदि इस पर भी कोई कार्यवाही नहीं होती है तो इसके लिये भाजपा के बैनर तले लॉकडाउन खत्म होने के बाद आंदोलन किया जायेगा। घटिया मास्क सप्लाई मामले पर निगम आयुक्त श्री टिकरिहा से दूरभाष पर चर्चा किये जाने पर उन्होंने कहा कि आपके समाचार के माध्यम से मुझे इस मामले की जानकारी हुई है। मेरे द्वारा पूरे मामले की जांच कराई जा रही है और जांच में जो भी व्यक्ति दोषी पाया जायेगा उस पर कार्यवाही की जायेगी। इस पूरे मामले को लेकर प्रतिनिधि ने कलेक्टर रजत बंसल से दूरभाष पर चर्चा कर उनका पक्ष लिया तो उन्होंने कहा कि यह काफी गंभीर मामला है, इसकी जांच कराई जायेगी।