breaking news New

छग के निजी कंपनियों में भी छत्तीसगढ़ के युवाओं को रोजगार मिलना चाहिए - छत्तीसगढ़िया क्रांति सेना

छग के निजी कंपनियों में भी छत्तीसगढ़ के युवाओं को रोजगार मिलना चाहिए - छत्तीसगढ़िया क्रांति सेना

बालोद, 2 मार्च। बालोद के गोंडवाना शक्तिपीठ में एक दिवसीय छत्तीसगढ़िया क्रांती सेना की बैठक आयोजित की गई। जिसमें प्रदेश महामंत्री भूषण साहू ने कहा कि छत्तीसगढ़ में बाहर की जो भी कंपनियां आती है। अपने साथ बाहर के लोगों को लेकर आती है। छोटे से लेकर बड़े पदों में दूसरे राज्य के लोग आकर रोजगार करते हैं। जिससे स्थानीय लोगों में रोजगार की समस्या बरकरार ही रहती है। लेकिन अब छत्तीसगढ़ के किसान, मजदूर से लेकर हर वर्ग के लोगों को छत्तीसगढ़िया क्रांती सेना के ऊपर पुरा विश्वास है कि हम उनके हित में लड़ाई लड़ेंगे। इसलिए हमारे हर एक सेनानी को जहां भी आस-पास किसी भी छत्तीसगढ़ के मजदूर या किसी व्यक्ति का शोषण होते नजर आए तो आवाज उठाने में पीछे ना हों। महामंत्री ने आगे कहा अब हमें अपने अधिकारों को लेकर चाहे जितनी लंबी लड़ाई लड़नी पड़े हम पीछे नहीं हटेंगे। 

हमारी संस्कृति के साथ खिलवाड़ बर्दास्त नहीं 

छत्तीसगढ़िया क्रांती सेना के दुर्ग जिलाध्यक्ष अरूण गंधर्व ने कहा कि छत्तीसगढ़ की संस्कृति, देवी-देवता, व्यंजन, लोकगीतों के अलावा हमारी सभ्यताओं को कोई भी सरकार बदलने की कोशिश करेगा तो उस सरकार को छत्तीसगढ़ से उखाड़ दिया जाएगा। छत्तीसगढ़ी बोली-भाखा को छत्तीसगढ़ के बच्चों के पाठ्यक्रम में उचित स्थान देकर छत्तीसगढ़ के सरकार को सम्मान देना चाहिए। पहले से जहां हमारे पूर्वज तालाब और स्थानों के नाम को देवी देवताओं के नाम से रख देते थे। अब यही हमारी धरोहर है, इनकी संरक्षण हमारी जिम्मेदारी है। लेकिन इनमें कोई बदलाव किया गया तो छत्तीसगढ़िया क्रांती सेना बिल्कुल भी माफ नहीं करेगा। 


आवेदन हो या आमंत्रण छत्तीसगढ़ी में लिखें   

प्रदेश आईटी सेल के प्रभारी देवेंन्द्र नेताम ने कहा अभी वर्तमान में रायपुर, भिलाई, दुर्ग, कोरबा के अलावा छत्तीसगढ़िया क्रांती सेना के सभी सेनानी अपने घर के कार्यक्रम चाहे वो शादी का कार्ड हो, या शोक, या मकान पूजा का हो। यहां तक किसी अधिकारी को कोई आवेदन भी देना हो तो छत्तीसगढ़ी में लिख कर देते हैं। छत्तीसगढ़ी यहां की भाषा है। दूसरे प्रदेशों में लोग अपनी भाषा का उपयोग करते हैं तो हमारा कर्तव्य बनता है कि हम भी छत्तीसगढ़ी को अपने जीवन में समाहित करें। कभी भी हो अपना स्टेटस बताने के लिए इंग्लिश का इस्तेमाल ना करें। इंग्लिश व्यवसाय की भाषा है हमारी संस्कृति नहीं है और कभी भी हमारी मातृ भाषा से उपर नहीं हो सकती। 

 यह हैं नए पदाधिकारी -  

चंद्रभान साहू जिला सह संयोजक, जिला सदस्यता प्रभारी देवेन्द्र साहू, बालोद ब्लाक संयोजक केदार साहू, बालोद ब्लाक अध्यक्ष सुभाष साहू, बालोद ब्लाक उपाध्यक्ष राजू साहू, बालोद शहर सह संयोजक लक्की देवांगन, बालोद शहर उपाध्यक्ष दीपक यादव, टेक राम साहू, बालोद शहर वार्ड - 20 और वार्ड - 1 प्रभारी दानी राम साहू, वार्ड - 9 प्रभारी रोशन सार्वा, वार्ड - 2 प्रभारी प्रियांसु साहू, ग्राम खैरतराई प्रभारी देवप्रकाश साहू, गुरूर ब्लाक संयोजक झम्मन हिरवानी, गुरूर ब्लाक उपाध्यक्ष प्रियेश साहू, अरजुन्दा ब्लाक उपाध्यक्ष करण निषाद, अरजुन्दा सदस्यता प्रभारी दानेश देवांगन, दल्लीराजहरा शहर सह संयोजक येशू साहू, लोहारा ब्लाक के ग्रामीण सर्किल अध्यक्ष आदित्य साहू बनाए गए। कार्यक्रम के दौरान जिला सह संयोजक शशिभूषण चंद्राकर, धानेश्वर देशमुख, योगी चंद्राकर, ललित कांवरे, संजय सोनी, राजकुमार साहू, बलदेव दर्रो, अनिल वर्मा, उमेश सेन, खोमेश्वर साहू, राजेश साहू, शेखर भुआर्य, दीपक सहारे, रेमन साहू, सेवक राम उर्वसा, तुषार कुमार, योगेश सोनभद्र, धनराज दर्रो, टोमेश्वर साहू, डोमार साहू, अजय ठाकुर, दुष्यंत साहू, गजेंद्र वर्मा, कृष्णा ढीमर, लीला ढाले, विकास पटेल, मिलन कुमार, ईगल ठाकुर, मनोज ठाकुर, मनोज कौशिक, सोहन ठाकुर, सोमेश साहू, टीकेश्वर साहू, डोमन साहू, लोकनाथ साहू, तोरण साहू उपस्थित थे।