breaking news New

धड़ल्ले से चल रहा है कोयले का अवैध खनन ,प्रशासन मौन

धड़ल्ले से चल रहा है कोयले का अवैध खनन ,प्रशासन मौन


त्रिलोचन चक्रवर्ती 

कोरिया -चिरिमिरी क्षेत्र में स्थित बरतुन्गा में कोयले का अवैध खनन फिर से प्रारंभ हो गई है,

 Secl व प्रशासन के लाख प्रयास के बावजूद चिरिमिरी क्षेत्र में अवैध कोयले का खनन जारी है। इसका कारोबार चरम पर पहुंच गया है। कोयला माफिया व खनन करने वालों की जेब भर रही है। वहीं सरकार को प्रतिदिन लाखों रुपये राजस्व का नुकसान उठाना पड़ रहा है।


अहम बात यह है कि अवैध कोयला खनन की सूचना पुलिस प्रशासन को भी है लेकिन अवैध खनन बंद करने को लेकर कोई सार्थक पहल नहीं की जा रही है। है। 


चिरिमिरी के बरतुन्गा, कोरिया, पोडी समेत अन्य कई स्थानों पर भारी मात्रा में कोयले का अवैध खनन का कारोबार जोरों पर चल रहा है।


 कोयला माफिया द्वारा अवैध कोयले का खनन किया जा रहा है। चिरमिरी क्षेत्र में कोयले की अवैध निकासी कर काली कमाई की जा रही है। खास बात यह है कि कोयले खदान में गरीब तबके के मजदूरों द्वारा अवैध खनन करवाया जाता है। मजदूर अपने पेट के खातिर कोयले के अवैध खनन में मजबूरन लगे रहते हैं।


कोयले खनन के कारण कई स्थान पर भारी गड्ढा बन गया है। ग्रामीण क्षेत्र के मजदूर कोयले का खनन करने में लगे हुए थे। कोयले का अवैध खनन स्थानीय कुछ लोगों के द्वारा करवाया जाता है।

सुस्त प्रशासन होने कारण कोयले के अवैध खनन करने वाले कारोबारियों के हौसले दिन पर दिन बढ़ते जा रहे हैं ,देखने की बात यह होगी कि प्रशासन कब इस अवैध कोयला खनन पर अंकुश लगा पाता है.