अब सर्दी, खांसी, बुखार के मरीजों की पृथक जांच होगी- कलेक्टर अंकित

अब सर्दी, खांसी, बुखार के मरीजों की पृथक जांच होगी- कलेक्टर अंकित


 भिलाई। जिला अस्पताल, सिविल अस्पताल सुपेला, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में फीवर सेंटर होंगे। यहां सर्दी, खांसी, बुखार के मरीजों की पृथक जांच होगी। इससे गंभीर लक्षण होने पर सैंपल जिला अस्पताल भेजे जाएंगे। यह पृथक हो जाने से ओपीडी में संक्रमण की आशंका और घट जाएगी।  कलेक्टर  अंकित आनंद की अध्यक्षता में हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया। बैठक में अब तक स्वास्थ्य विभाग द्वारा चिन्हांकित किए जा रहे बाहर से आए लोगों के आइसोलेशन एवं क्वारन्टीन से संबंधित गतिविधियों की समीक्षा की गई। बैठक में कलेक्टर ने कहा कि जिन लोग बाहर से आए हैं उनकी ट्रेवल हिस्ट्री के साथ ही यह भी जानकारी एकत्रित करनी होगी कि वह किन लोगों के साथ मिले। इसके साथ ही जहां से भी बाहर से आए लोगों की सूचनाएं मिले, इस संबंध में स्वास्थ्य विभाग त्वरित कार्रवाई करें, उन्हें आइसोलेट करें तथा जांच संबंधी आवश्यक कार्रवाई करें। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य केंद्रों में आने वाले सर्दी बुखार के मामले एवं इसी तरह के अन्य मामले में कोरोना की आशंका होने पर सैंपल जांच के लिए आगे भेजे जाएं। कलेक्टर ने बैठक में कहा कि सर्वीलीइंस टीम द्वारा प्राप्त सूचनाओं के आधार पर त्वरित कार्रवाई की जाए। कलेक्टर ने जिले में जरूरतमंदों के लिए चल रहे राहत कार्यो की भी समीक्षा की। उन्होंने कहा कि हर जरूरतमंद को चिन्हांकित कर  सहायता पहुंचाई जाए। उन्होंने कहा कि दूसरे जिलों एवं राज्यों के फंसे लोगों को लॉक डाउन के दौरान रहने खाने की किसी तरह की दिक्कत ना हो यह सुनिश्चित किया जाए। आवश्यक सामग्रियों की अधिकाधिक होम डिलीवरी सुनिश्चित की जाए। साथ ही किराना दुकानों,  मेडिकल शॉप आदि मेंसोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखें। कलेक्टर ने बैठक में विभिन्न वर्गों के हितों के लिए लॉक डाउन के दौरान चलाई गई योजनाओं के क्रियान्वयन की समीक्षा भी की। बैठक में जिला पंचायत सीईओ  कुंदन कुमार सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

जनधन खाते की राशि कभी भी निकाल सकते हैं- प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना की राशि जनधन खाते के महिला हितग्राहियों के खाते में आई है। वे इसका आहरण वे अपने जरूरत के मुताबिक कभी भी कर सकती हैं। लोगों के बीच यह भ्रम फैला है कि लॉक डाउन के दौरान राशि नहीं निकाली गई तो राशि लैप्स हो जाएगी अथवा आगामी 2 महीने की किश्त नहीं आएगी। ऐसा कतई नहीं है। खाताधारी कभी भी अपनी राशि निकाल सकते हैं उनकी राशि लैप्स नहीं होगी। कलेक्टर  अंकित आनन्द ने इस संबंध में आम जनता से अपील की है कि अफवाहों पर ध्यान नहीं दें। लॉक डाउन के दौरान घर पर ही रहें। यदि फिलहाल जरूरत नहीं है तो राशि नहीं निकालें। आपकी राशि लैप्स नहीं होगी। आप इसे कभी भी निकाल सकते हैं।

chandra shekhar