breaking news New

खुली खदान में काम करने वाली सुशिवानी बनीं पहली महिला उत्खनन इंजीनियर

 खुली खदान में काम करने वाली सुशिवानी बनीं पहली महिला उत्खनन इंजीनियर

नईदिल्ली । केंद्रीय कोयला, खान एवं संसदीय कार्य मंत्री प्रल्हाद जोशी ने शिवानी मीणा को कोयला मंत्रालय के अंतर्गत आने वाले सेंट्रल कोल्फील्ड्स लिमिटेड (सीसीएल) की प्रथम उत्खनन इंजीनियर बनने पर शुभकामनाएं दी। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि इससे महिला पेशेवरों के लिए खनन क्षेत्र में ज्यादा से ज्यादा शामिल होने का मार्ग प्रशस्त होगा। केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री, श्रीमती स्मृति इरानी ने भी शिवानी की इस उपलब्धि के लिए उनकी सराहना की है।

सुशिवानी मीणा रजरप्पा परियोजना में एक उत्खनन इंजीनियर के रूप में शामिल हुई हैं, जो कि सीसीएल के रजरप्पा क्षेत्र में एक मशीनीकृत खुली खदान है। यह अपने आप में अभूतपूर्व है क्योंकि सुशिवानी उत्खनन संवर्ग की पहली महिला इंजीनियर हैं, जो एक खुली खदान में काम कर रही हैं। उन्हें हेवी अर्थ मूविंग मशीनरी (एचईएमएम) का रखरखाव और मरम्मत करने की जिम्मेदारी दी गई है। उल्लेखनीय है कि रजरप्पा सीसीएल की महत्वपूर्ण परियोजना है। कोयला मंत्रालय द्वारा हाल ही में रजरप्पा क्षेत्र को स्वच्छता अभियान के अंतर्गत उत्कृष्ट कार्य के लिए सम्मानित किया गया है।

शिवानी राजस्थान के भरतपुर की मूल निवासी हैं और उन्होंने आईआईटी, जोधपुर से इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है। सुशिवानी अपनी सफलता का श्रेय अपने परिवार को देती हैं और बताती हैं कि यह उनके परिवार का अटूट समर्थन था जिसने उन्हें प्रेरित किया। वह आगे बताती हैं कि कोल इंडिया लिमिटेड में काम करना उनके वर्षों के कठिन परिश्रम का फल है और वे इस कंपनी में अपना सर्वश्रेष्ठ योगदान करना चाहती है।