जमाखोरी, काला बाजारी कतई बर्दाश्त नहीं-रजत बंसल

जमाखोरी, काला बाजारी कतई बर्दाश्त नहीं-रजत बंसल

8 से 10 क्विंटल हरी सब्जियों का हो रहा नि:शुल्क वितरण

संजय जैन

धमतरी, 4 अप्रैल। कोरोना संक्रमण को बढऩे से रोकने के लिये शासन, प्रशासन द्वारा हर संभव प्रयास किये जा रहे हैं जिसके लिये सोशल डिस्टेसिंग का पालन करने लोगों को समझाईश दी जा रही है। कलेक्टर रजत बंसल के निर्देश पर अधिकारी, कर्मचारीगण लगातार सक्रियता के साथ अपने दायित्व का निर्वहन कर रहे हैं जिससे अभी तक इस वायरस से संक्रमित कोई भी व्यक्ति सामने नहीं आया हैं। कलेक्टर के द्वारा लगातार की जा रही मॉनिटरिंग एवं समय समय पर औचक्क निरीक्षण के चलते जिले के अधिकारियों में पूरी तरह मुस्तैदी के साथ कार्य किया जा रहा है। इसी कड़ी में गरीब परिवारों को प्रशासनिक स्तर पर खाद्य सामग्रियों का वितरण तो किया ही जा रहा है। लेकिन सब्जी के लिये गरीब एवं मध्यम श्रेणी के लोगों को भटकते देखा गया था जिसके लिये सब्जी व्यवसायी संघ द्वारा कलेक्टर के आव्हान पर 8 से 10 क्विंटल सब्जियां नि:शुल्क वितरण की जा रही है। 

कोविड-19 के प्रभाव से समूचे विश्व में हा-हाकार मचा हुआ है। इसे लेकर समूचा देश चिंतित है। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस व्यवस्था से निपटने जहां समय समय पर संदेश के माध्यम से इससे बचाव के तरीके को अपनाते लॉकडाऊन की घोषणा समूचे देश में की है वहीं प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी लगातार प्रदेशवासियों के स्वास्थ्य के लिये पूरे स्वास्थ्य अमले को आवश्यक दिशा निर्देश देकर ऐसे किसी भी स्थिति से निपटने के लिये निर्देशित किये हैं। इसी कड़ी में कलेक्टर रजत बंसल द्वारा धमतरी जिले में कोरोना वायरस से बचाव के अनेक उपाय किये गये हैं। इनके द्वारा आइसोलेशन और क्वारेंटाइन आदि के लिये स्थान चिन्हांकित कर उसे शीघ्रातिशीघ्र तैयार कराये जाने का प्रयास किया जा रहा है। जिले के चारों ब्लाकों में इसके लिये युद्धस्तर पर कार्य जारी है। लॉक डाऊन(तालाबंदी) का पालन कराने समूचे जिले में धारा 144 पूर्व से लागू है जिसके चलते कोई भी समूह 4 से अधिक संख्या में शहर या जिले में नहीं घूम सकता। इसके तहत सुबह 7 बजे से दोपहर 3 तक पूर्व में छूट दी गई थी। इस अवधि में नागरिक अपने जरूरत के सामानों को खासकर किराना सामग्रियों की खरीद-फरोख्त करते रहे। लेकिन कुछ लोगों द्वारा इस छूट का पालन नहीं किया जा रहा था। लगातार लॉकडाऊन के नियमों का उल्लंघन किया जा रहा था। इसे देखते हुए एक संशोधित आदेश जारी करते हुए कलेक्टर श्री बंसल ने इस आदेश में संशोधन किया और 7 से 3 के स्थान पर 7 से 12 बजे तक ही खरीदी कर अपने घरों में पहुंच जाने की अपील की गई जिसका पालन पुलिस विभाग द्वारा लगातार कराया जा रहा है।

कलेक्टर श्री बंसल के द्वारा शासन के निर्देशानुसार जो खाद्य सामग्रियां, राशन इत्यादि की आपूर्ति की जा रही है, वह तो सर्वहारा वर्ग के लिये उपलब्ध हो ही रही है। लेकिन कलेक्टर के अपील पर शहर के समाजसेवी संस्थाओं द्वारा खाद्य सामग्री आबंटित किये जाने की मानो परंपरा सी चल गई जिसके चलते जरूरतमंद, गरीब, मध्यम श्रेणी के लोगों को खाद्य सामग्री उपलब्ध हो रही है। गरीब एवं मध्यम श्रेणी के परिवारों को सब्जी के लिये डिस्टेंस का पालन अनिवार्य था। लेकिन इसका पालन नहीं होते देख कलेक्टर श्री बंसल ने इसकी व्यवस्था श्यामतराई स्थित मंडी में पसरा का निर्माण करवाकर लगातार हो रहे डिस्टेंस के उल्लंघन को दूर करने में महारथ हासिल की है। सामग्रियों की प्राप्ति जैसे जैसे समाजसेवी संस्थाओं द्वारा व्यवस्था की गई, उसके अनुरूप सामुदायिक भवन में उसका संग्रहण कर उसे वितरण किये जाने का लक्ष्य भी रखा गया है जिसके चलते सोरिद में बीते दिनों खाद्य सामग्री, सब्जियां वितरित की गई। इसी तरह अटल आवास, कुष्ठ रोगी आश्रम जैसे क्षेत्रों में भी कलेक्टर के निर्देश पर अधिनस्थों द्वारा वहां उन्हें उपलब्ध कराई जा रही है। छत्तीसगढ़ में धमतरी जिला एक ऐसा जिला है जहां लॉकडाऊन के साथ आम नागरिकों की सुरक्षा के लिये कलेक्टर के निर्देश पर उनके अधीन अधिकारी, कर्मचारी अपने दायित्वों का निर्वहन कर कोरोना महामारी से अब तक जिलेवासियों को सुरक्षित रखे हुए हैं जिसकी सर्वत्र प्रशंसा की जा रही है।

पिछले दिनों कलेक्टोरेट सभाकक्ष में आयोजित बैठक में आवश्यक सामग्रियों को उचित मूल्य पर बेचने तथा प्रशासन का हर संभव सहयोग करने की घोषणा नगर के थोक किराना व्यापारियों ने की थी। उसके अनुरूप इसका अक्षरश: पालन हो रहा है कि नहीं, इसे लेकर खाद्य विभाग के टीम ने शहर के विभिन्न प्रतिष्ठानों में दबिश देकर उचित मूल्य से अधिक कीमत पर सामग्रियों को बेचे जाने वाले कुछ प्रतिष्ठानों पर कार्यवाही भी की गई थी। प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर प्रशासन लगातार प्रयास कर रहा है कि कोई भूखा न रहे अथवा सामान आसानी से उपलब्ध हो सके। इस बैठक में कलेक्टर श्री बंसल ने कहा था कि ऐसे दौर में जिला प्रशासन की यह अपेक्षा है कि किसी भी व्यापारी के द्वारा आवश्यक सामग्रियों के दाम में अनावश्यक रूप से बढ़ोत्तरी न करते हुए उचित मूल्य पर ही उपभोक्ताओं को वस्तुएं उपलब्ध कराई जायें तथा लॉकडाऊन के दौरान डिस्टेंस का विशेष ख्याल रखा जाये। यदि व्यापारी एवं खरीददार डिस्टेंस का पालन नहीं करेंगे तो उन पर उचित कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने इस बैठक में पुन: दोहराया कि कालाबाजारी, जमाखोरी कतई बर्दाश्त नहीं की जायेगी। इसकी जानकारी मिलने पर तत्काल कार्यवाही आवश्यंभावी है। कलेक्टर की व्यवस्था जिलेवासियों में काफी हर्ष देखा जा रहा है और अब तक कोरोना वायरस का एक भी प्रकरण सामने नहीं आया है, जो इस जिले के लिये उपलब्धि माना जा रहा है।