breaking news New

आमदई खदान को बंद करने की मांग को लेकर ग्रामीण लामबंद,प्रदर्शन करने पैदल हुए रवाना

आमदई खदान को बंद करने की मांग को लेकर ग्रामीण लामबंद,प्रदर्शन करने पैदल हुए रवाना

नारायणपुर /  नारायणपुर जिले के 84 परगना के लगभग 2 हजार ग्रामीण आमदई खदान में शुरू होने वाले खनन कार्य को बंद करने की मांग को लेकर जिला मुख्यालय में प्रदर्शन करने के लिए अबूझमाड़ के झारा से जल जंगल जमीन हमारा है और आमदई खदान को बंद करने के नारे लगाते हुए  पैदल जिला मुख्यालय के लिए निकले है । जहां पहले दिन 10 किलोमीटर पैदल चलकर छोटेडोंगर पहुचे थे वही आज छोटेडोंगर से 14 किलोमीटर पैदल चलकर कोंगरा पहुचे । ग्रामीण इस कड़ाके की ठंड में भी खुले आसमान के नीचे ठंड को सहते हुए अपनी मांग को लेकर डटे हुए है ।  वही ग्रामीणों का कहना है कि जब तक उनकी मांग पूरी नही होगी तब तक जिला मुख्यालय मे प्रदर्शन करने की बात कह रहे है । 

पांडुराम पोयाम प्रदर्शनकारी का कहना है कि  नारायणपुर जिले के आमदई में निकों जायसवाल कम्पनी द्वारा लौह अयस्क खदान के खनन का कार्य शुरू किया जाना है जिसका विरोध जिले के 84 परगना के हजारो ग्रामीण कर रहे है और आमदई खदान को बंद करने की मांग को लेकर फिर एक बार लामबंध होकर जिला मुख्यालय में प्रदर्शन करने के लिए अबूझमाड़ के झारा से पैदल अपनी पुरी तैयारी के साथ नारे लगाते हुए शनिवार से निकले है । जहा शनिवार को 10 किलोमीटर पैदल चलकर ग्रामीण छोटेडोंगर पहुचे थे वही रविवार को 14 किलोमीटर पैदल चलकर छोटेडोंगर से कोंगरा पहुचे है । सभी ग्रामीणों का कहना है कि पर्यावरण को बचाने के लिए 84 परगना के लोगो ने पहले 5 दिनों तक धौड़ाई में प्रदर्शन किया था और प्रशासन को मांग पूरा करने के लिए 15 दिनों का समय दिया गया लेकिन प्रशासन ने हमारी मांग पूरी नही की इसलिए अब हम जिला मुख्यालय में अपनी मांग पूरी करने के लिए प्रदर्शन करने जा रहे है और जब तक हमारी मांग पूरी नही होगी हम डटे रहेंगे ।