breaking news New

ब्रेकिंग: किडनी ट्रांसप्लांट के नाम पर ठगी, चाचा ने भतीजे को संपत्ति देने का लालच दिया और उसकी किडनी ले ली, बाद में संपत्ति देने से मुकरा, थाना में एफआईआर दर्ज

ब्रेकिंग: किडनी ट्रांसप्लांट के नाम पर ठगी, चाचा ने भतीजे को संपत्ति देने का लालच दिया और उसकी किडनी ले ली, बाद में संपत्ति देने से मुकरा, थाना में एफआईआर दर्ज

अंबिकापुर. स्थानीय कोतवाली थाना में किडनी ट्रांसप्लांट के नाम पर ठगी करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है. किडनी की बीमारी से जूझ रहे चाचा ने भतीजे को बेटा बनाकर संपत्ति बनाने का झांसा दिया और भतीजे की किडनी लेकर ट्रांसप्लांट करवा लिया लेकिन इसके बाद वह जमीन देने से मुकर गए. अब चाचा ने भतीजा के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया है.

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार आरोपी राजेन्द्र धर दुबे की दोनों किडनियां खराब हो गई थी. डाक्टर ने उन्हें किडनी ट्रांसप्लांट कराने की सलाह दी, लेकिन राजेंद्र धर दुबे के 2 बेटों और पत्नी ने किडनी ट्रांसप्लांट करने के लिए अपनी किडनी देने से मना कर दिया. इसके बाद राजेंद्र दुबे ने अपने भतीजे रविंद्र धर दुबे को अपना बड़ा बेटा बताते हुए किडनी ट्रांसप्लांट करा ली.

इसके एवज में राजेंद्र धर दुबे ने रविंद्र धर दुबे को जमीन देने के साथ ही उसके बच्चों की परवरिश का आश्वासन दिया था, लेकिन जैसे ही किडनी ट्रांसप्लांट हुई वैसे ही राजेंद्र धर दुबे ने अपना वसीयतनामा चेंज करा लिया और साथ ही रविंद्र धर दुबे को कोई भी संपत्ति देने से मना कर दिया।

भतीजे को लगा कि उसके साथ धोखा हुआ है तो उसने रविंद्र धर दुबे के खिलाफ कोतवाली पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। पुलिस ने इस मामले में राजेंद्र धर दुबे और पत्नी कौशल्या दुबे सहित चार लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी और साक्ष्य छिपाने का मामला दर्ज किया है. पीड़ित का यह भी कहना है कि राजेंद्र धर दुबे ने अपनी पत्नी के नाम की जमीन का वसीयतनामा खुद तैयार किया और उसके साथ धोखाधड़ी की है. कोतवाली पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी की तैयारी में है.