breaking news New

CBSE की 10वीं बोर्ड की परीक्षा रद्द..12वीं बोर्ड का एग्जाम स्थगित..स्टूडेण्ट की मार्कशाीट प्री-बोर्ड परीक्षा के नंबरों के आधार पर तैयार हो सकती है..विदयार्थी संतुष्ट नही तो परीक्षा देने का विकल्प रहेगा'

CBSE की 10वीं बोर्ड की परीक्षा रद्द..12वीं बोर्ड का एग्जाम स्थगित..स्टूडेण्ट की मार्कशाीट प्री-बोर्ड परीक्षा के नंबरों के आधार पर तैयार हो सकती है..विदयार्थी संतुष्ट नही तो परीक्षा देने का विकल्प रहेगा'

जनधारा समाचार
नई दिल्ली. देश में कोरोना महामारी की दूसरी लहर के दौरान रोजाना बढ़ते नए मामलों के बीच मोदी सरकार ने एक बड़ा फैसला किया है. सरकार ने फिलहाल 4 मई से होने वाली केंद्रीय माध्यमिक बोर्ड (सीबीएसई) की 10वीं बोर्ड की परीक्षा को पूरी तरह रद्द कर दिया है. वहीं, सरकार ने 12वीं बोर्ड की परीक्षा को फिलहाल स्थगित किया गया है. बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल और शिक्षा सचिव के साथ हुई बैठक में कोरोना संक्रमण के मद्देनजर यह कदम उठाया गया है.


शिक्षा मंत्रालय के हवाले से समाचार एजेंसी एएनआई ने जानकारी दी है कि सरकार ने सीबीएसई 10वीं बोर्ड की परीक्षा को रद्द कर दिया है. वहीं, 12वीं बोर्ड की परीक्षा को फिलहाल स्थगित कर दिया गया है. जानकारी के अनुसार, 10वीं बोर्ड की परीक्षा देने वाले परीक्षार्थियों का रिजल्ट ऑब्जेक्टिव क्राइटेरिया के आधार पर सीबीएसई की ओर से तैयार किया जाएगा. वहीं, 12वीं बोर्ड की परीक्षा की अगली डेट का 1 जून को समीक्षा बैठक के बाद ऐलान किया जाएगा. छात्रों को 15 दिन पहले इसकी सूचना दी जाएगी.

देश में कोरोना के बीच होने वाली परीक्षा और विभिन्न राज्यों और राजनीतिक दलों की मांग को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक और शिक्षा सचिव समेत आला अधिकारियों के साथ बैठक की. शिक्षा मंत्री और मंत्रालय के अधिकारियों के साथ हुई बैठक में प्रधानमंत्री मोदी ने 10वीं बोर्ड की परीक्षा रद्द करने और 12वीं की परीक्षा स्थगित करने का फैसला किया है.

बताया यह जा रहा है कि 10वीं बोर्ड के परीक्षार्थियों को लेकर सरकार के स्तर पर यह फैसला किया गया है कि सीबीएसई स्कूलों के इंटरनल ग्रेडिंग एससमेंट के आधार पर रिजल्ट तैयार कर सकता है. स्कूलों के द्वारा 10वीं कक्षा के छात्रों के लिए ली गई प्री-बोर्ड परीक्षा के नंबरों के आधार पर भी रिजल्ट तैयार किया जा सकता है. इसके बावजूद अगर कोई विद्यार्थी सीबीएसई की रिजल्ट से संतुष्ट नहीं होगा, तो उसे व्यक्तिगत तौर पर बोर्ड की ओर से परीक्षा देने की अनुमति दी जाएगी.

गौरतलब है कि सीबीएसई 10वीं और 12वीं बोर्ड की परीक्षा आगामी 4 मई 2021 से शुरू होकर 14 जून 2021 तक संचालित किया जाना था. इस बीच, मार्च के आखिरी सप्ताह से देश में कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर के दौरान रोजाना बढ़ रहे संक्रमितों के नए मामलों को लेकर पक्ष-विपक्ष की ओर से चिंता जाहिर की जा रही थी. सीबीएसई बोर्ड परीक्षा को लेकर कुछ दिन पहले ही कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखी थी. इसके बाद मंगलवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी केंद्र सरकार से बोर्ड परीक्षा स्थगित करने की मांग की थी.