breaking news New

प्रदूषण फैलाने वाले स्टील स्पंज और पांवर प्लांट नहीं खोलने देंगे : किसान नेता योगेश तिवारी

 प्रदूषण फैलाने वाले स्टील स्पंज और पांवर प्लांट नहीं खोलने देंगे :  किसान नेता योगेश तिवारी

बेमेतरा।  किसान नेता योगेश तिवारी ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुये बताया कि  आज नेवनारा और आस पास के किसानों ने मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपकर स्टील और स्पनजं आयरन प्लान्ट का विरोध किया । योगेश तिवारी ने कहा कि यहाँ की साफ़ हवा और आक्सीजन से ज़िन्दगी गुज़ार रहे हैं ।और ऐसे में यहाँ प्रदूषण वाले प्लान्ट लगने के बाद यहाँ के लौगोंको बीमारी के साथ ज़िन्दगी गुज़ारना पड़ेगा।

योगेश तिवारी ने कहाँ बेमेतरा विधानसभा कृषि प्रधान क्षेत्र है ।यहाँ के नदी के पानी में किसानों को और यहाँ के जनता का अधिकार है। ईसे पानी को भी उघोग पतियों को बेचा जायेगा ।बेमतरा ज़िला बनने के बाद यहाँ के किसानों ने हमेशा ज़िला में प्रदूषण मुक्त फुड प्रोशेशिंग प्लांट लगाने की माँग की है ।चाहे वो शक्कर कारख़ाना हो या या मक्का का प्लांट हो या इथेनॉल प्लान्ट हो मगर बेमेतरा ज़िले में ये प्लांट तो नहीं खुले। लेकिन अब प्रदूषण फैलाने वाले प्लांट लगाने के लिए उघोगपति इस क्षैत्र में सक्रिय है और हाल में ही एक रायपुर के निजी कंपनी ग्राम नेवनारा में सरदा में भीम्भवरी और नवागढ ज़िले के चुन्व में स्टील प्लांट स्थापना के लिये ज़मीन ली है और उनके एजेन्ट सक्रीय हैं । प्लांट विरोध में ग्रामीण लामबंद हो गए हैं ।

इस संबंध में 15 अगस्त को ग्राम पंचायत नेवनारा की ओर से ग्राम सभा की गांव में स्टील प्लांट स्थापना की अनुमति नहीं दिए जाने का प्रस्ताव पारित हुआ है ।  ग्राम नेवनारा में निजी कंपनी के द्वारा गांव में स्टील प्लांट की स्थापना की तैयारी की जा रही है । इसके लिए कंपनी प्रबंधन की ओर से गांव में करीब 400 एकड़ जमीन खरीदी गई है । किसानों के अनुसार गांव में स्टील प्लांट स्थापना का ग्रामीण पुरजोर विरोध कर रहे है । प्लांट स्थापना के लिए पंचायत की रजामंदी नहीं है, ग्रामीणों के अनुसार ग्राम नेवनारा, सिलतरा उरला औद्योगिक क्षेत्र के नजदीक है ।

  गांव के ग्रामीण इन औद्योगिक क्षेत्रों के प्रदूषण से स्वास्थ्यगत समस्याओं से गुजर रहे हैं । अब गांव में स्टील प्लांट की स्थापना होने से ग्रामीणों को दोहरी मार पड़ेगी एक ओर जहां किसानों की फसल बर्बाद होगी । वहीं दूसरी ओर ग्रामीणों में स्वास्थ्यगत समस्याएं बढ़ेंगी । प्लांट स्थापना के लिए ग्रामीणों की सहमति नहीं ली जा रही है इससे ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त है । 

ग्राम नेवनारा के किसानों ने बताया कि करीब 14 साल पहले रायपुर के इस्पात प्रबंधन की ओर से ग्राम नेवनारा में करीब 400 एकड़ जमीन खेती किसानी के नाम पर खरीदी गई थी । संबंधित प्रबंधन की ओर से एक दशक से अधिक समय से उक्त भूमि पर खेती की जा रही थी । वर्तमान में रायपुर  के एक इस्पात कंपनी की ओर से उक्त भूमि को एक रायपुर के एनर्जी कंपनी को बेच दिया है । संबंधित एनर्जी कंपनी अब उक्त भूमि पर स्टील प्लांट की स्थापना की तैयारी कर रही है । कंपनी की ओर से राज्य सरकार से एमओयू भी किए जाने की जानकारी मिली है अतः आपसे निवेदन है बेमेतरा के किसानों के विरोध के चलते प्लांट लगाने की अनुमति ना दि जाये !आज ज्ञापन सौंपने वालों में  देवेंद्र जैन प्रमिला साहू सरपंच नेवनारा .जीवन गायकवाड़ रीता शर्मा उत्तरा मयाराम ,साहू दशरथ मनोज तिवारी हरिश्चंद्रघृत लहरें गोलू निषाद गोलू निषाद राजेश निषाद चेतन शर्मा राजेंद्र मारकंडे राजकुमार जगत राम मनोज शर्मा अजय मिश्रा एक राम पीयूष शर्मा कमलेश सेन मिलो जोगी मनीराम सिन्हा मनोज दुबे रामकुमार सुरेंद्र कुमार जगन्नाथ चेतन दशरथ लक्ष्मण राजू गोलू वर्मा नारायण वर्मा टेकराम साहू पोषण यदु जीवन गायकवाड इतवारी आत्माराम लोकेश साहू रोहित लहरें मान सिंह पाटिल तिलक पाटिल सालिक साहू चिंताराम बंछोर कमल साहू मनोज बंजारे राजेश जांगड़े नैना देवी मांडले उत्तरा महेश्वरी मनोज यादव  देवकुमार यादव मनोज पांडे अभिषेक शर्मा सहित आसपास के गाँव वाले शामिल थे .