breaking news New

सैकड़ों मनरेगा मजदूरों ने छत्तीसगढ़ स्वाभिमान मंच के आह्वान पर किया जोरदार प्रदर्शन

सैकड़ों  मनरेगा मजदूरों ने छत्तीसगढ़ स्वाभिमान मंच के आह्वान पर किया जोरदार प्रदर्शन

रायपुर। प्रदेश के तीन जिलों से आये एक सैकड़ों  मनरेगा मजदूरों ने छत्तीसगढ़ स्वाभिमान मंच के आह्वान और छत्तीसगढ़ श्रमिक मंच तथा छग मनरेगा मजदूर कल्याण संघ के नेतृत्व में रायपुर के बूढ़ा तालाब धरना स्थल पर जोरदार प्रदर्शन किया।  मजदूर केंद्र के कानून के अनुसार 100 दिन और राज्य सरकार के वायदा के अनुसार 50 दिन काम देने और पारिश्रमिक के भुगतान हेतु 5 हजार करोड़ और 2500 करोड़ रूपये का बजटीय प्रावधान करने की मांग को लेकर नारेबाजी कर रहे थे, उल्लेखनीय है कि चालू वित्त वर्ष में केंद्र के बजट से राज्य में पंजीकृत 20 लाख मजदूरों में से 2 लाख को भी पूरे 100 दिन काम नहीं दिया जा सका है इसी प्रकार राज्य के बजट से 1% मजदूरों को भी 50 दिन का काम नहीं दिया जा सका है,


मनरेगा मजदूरों को छत्तीसगढ़ स्वाभिमान मंच के अध्यक्ष एड. राजकुमार गुप्त ने कहा कि मनरेगा मजदूरों का संगठित होना रोजगार सहायकों, पंचायत सचिवों और सरपंचों को बर्दाश्त नहीं हो रहा है इसीलिये वे मनरेगा मजदूरों को धमका रहे हैं ंनरेगा मजदूरों को रायपुर के प्रदर्शन में शामिल होने से रोकने के लिये कुछ पंचायतों में आज रविवार अवकाश के दिन भी काम पर बुलाया गया है, उन्होंने आगाह किया है कि धमका कर और दबाव डालकर मनरेगा मजदूरों को संगठित होने से नहीं रोका जा सकेगा,

आज मनरेगा मजदूरों में प्रमुख रूप से मंच के केंद्रीय महासचिव रजा अहमद, प्रदेश महासचिव पूरनलाल साहू, छत्तीसगढ़ श्रमिक मंच के मंगलूराम बघेल, भगतराम, छग मनरेगा मजदूर कल्याण मंच के प्रदेश अध्यक्ष राकेश कौशिक, लता चंद्राकर, रीना देशमुख, झिरनी साहू, मंच के अक्षय साहू, रूपनारायण साहू, भीमा साहू, भोला साहू सहित भारी संख्या में मनरेगा मजदूर शामिल थे, प्रदर्शन और सभा के बाद तहसीलदार देवांगन को प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के नाम मांगपत्र दिया गया ।