breaking news New

नक्सल प्रभावित जिले में 127 पंचायतों में से ​​​​116 पंचायतों में 100% वैक्सीनेशन; 25 दिन में ही 36,591 ग्रामीणों ने लगवा लिया टीका

 नक्सल प्रभावित जिले में   127 पंचायतों में से ​​​​116 पंचायतों में 100% वैक्सीनेशन; 25 दिन में ही 36,591 ग्रामीणों ने लगवा लिया टीका

जिले के मुखिया कलेक्टर दीपक सोनी  जिले में कोरोना को हराने के लिए स्वयं कर रहे है इसकी मॉनिटरिंग
दंतेवाड़ा   नक्सल प्रभावित  क्षेत्र में जिन गांवों में नेटवर्क, सड़क, शिक्षा, स्वास्थ्य सुविधाएं नहीं है,


दंतेवाड़ा  ! ऐसे क्षेत्रों की मॉनिटरिंग स्वयं जिला के मुखिया कलेक्टर दीपक सोनी कर रहे हैं जिसका परिणाम है कि आज जिले के नक्सल प्रभावित क्षेत्र जहां पर ना तो नेटवर्क है ना ही आने-जाने की सुविधा उन क्षेत्रों में शत-प्रतिशत टीकाकरण किया गया है

जिसका श्रेय कलेक्टर दीपक सोनी ने वहां के रहने वाले ग्रामीणों को दिया नक्सल प्रभावित क्षेत्र के गांव के सरपंच सचिव व जनप्रतिनिधि द्वारा की गई मेहनत का नतीजा है कि आज गांव में कोरोना संक्रमण जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है और गांव के अंतिम छोर तक इस अभियान किया को खुद ले जा रहे हैं जिससे कि विश्व में फैली हुई कोरोनावायरस की जानकारी गांव के हर व्यक्ति को हो और वह समय पर स्वास्थ्य केंद्र जाकर टीकाकरण करवाएं

 अब तक 116 ग्राम पंचायतों में 100% वैक्सीनेशन हो गया है। खास बात यह है कि इस टारगेट को महज 25 दिन में हासिल किया गया है।
116 ग्राम पंचायतों के 45+ के 36591 ग्रामीणों ने वैक्सीनेशन करा लिया है। टीकाकरण से ज्यादा तबीयत बिगड़ने जैसा एक भी मामला अभी तक सामने नहीं आया है।


जिले में 127 ग्राम पंचायतें हैं। इनमें से 116 ग्राम पंचायतों के 45+ के 36591 ग्रामीणों ने वैक्सीनेशन करा लिया है। इनमें जिले के धुर नक्सल प्रभावित गांव माने जाने वाले पोटाली, बुरगुम,  जैसे 20 से ज़्यादा पंचायतें शामिल हैं।

कुल जनसंख्या    1 लाख 83 हजार 608
वैक्सीनेशन का लक्ष्य    36 हजार 722 (कुल जनसंख्या का 20%)
अब तक लगी वैक्सीन    36 हजार 591 लोगों को दूध नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में जाकर इन लोगों को चिन्हित कर उन्हें टीकाकरण कराना शासन प्रशासन के लिए एक चुनौती थी जिसको शासन-प्रशासन द्वारा स्वास्थ्य विभाग अमला आंगनबाड़ी कार्यकर्ता मितानिन द्वारा सरकार किया गया है जिन्होंने रात दिन एक कर इस चुनौती को स्वीकार किया और नक्सल प्रभावित क्षेत्र में जाकर अपनी ड्यूटी कर अपना कर्तव्य निभाया है जिसकी प्रशंसा कलेक्टर दीपक सोनी स्वयं कर उन्हें बधाई दे रहे हैं


जिले के इन नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में पहुंची प्रशासन की टीम

 कटेकल्याण, कुआकोंडा ब्लॉक के  पोटाली, रेवाली, बुरगुम, चेरपाल, गुटोली, पाहुरनार, चिकपाल, एडपाल, पखनाचुआ, मारजूम, गुड़से, परचेली, तेलम, टेटम, सूरनार जैसी और इंद्रावती नदी पार की कई पंचायतें हैं जो नक्सल प्रभावित होने के साथ पहुंच से दूर हैं। इसके बाद भी यहां वैक्सीनेशन का काम पूरा कर लिया गया है।